Tuesday , September 27 2022

अखिलेश ने योगी पर तंज कसते हुए कहा वो क्या जाने जो हैं अकेले इस ज़माने में

लखनऊ। पिछले कई महीनों से अखिलेश यादव अपने विरोधियों पर चुटीले अंदाज में ट्वीट कर उन पर तंज कस रहे हैं। इस बार भी अखिलेश ने ट्वीट के जरिये मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधा है। इसमें अखिलेश यादव ने इजरायल के पीएम बेंजामिन नेतन्याहू और उनकी पत्‍नी सारा की ताजमहल के सामने की तस्‍वीर को शेयर करते हुए एक ट्वीट किया। इस ट्वीट में अखिलेश ने लिखा है कि मोहब्बत खींच ही लाती है अपने आशियाने में मगर वो क्या जाने जो हैं अकेले इस ज़माने में, वेलकम होम ऑफ द ताज। हालांकि मुख्यमंत्री योगी अभी पिछले महीने ही ताज का दीदार कर चुके हैं।

अखिलेश ने इस ट्वीट के जरिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधा है। जिसमें योगी आगरा में इजरायली पीएम के साथ रहने के बाद भी ताजमहल नहीं गये थे। राजनीतिक गलियारों से लेकर आम जनमानस में भी इस ट्वीट की खूब चर्चा है। अख‍िलेश के इस ट्वीट पर कई मजेदार कमेंट भी आ रहे हैं। बताते चलें कि मंगलवार को जब इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू अपनी पत्नी के संग मोहब्बत की निशानी के दीदार के लिए आगरा पहुंचे तो यूपी के सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने उनका वेलकम किया।

इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू मंगलवार को अपनी पत्नी सारा नेतन्याहू के साथ प्यार की निशानी कहे जाने वाले विश्व प्रसिद्ध ताजमहल का दीदार करने पहुंचे थे। इस दौरान उनके साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी थे। इजरायली पीएम और उनकी पत्नी ने वहां खूब फोटो भी खिंचवाई। लेकिन योगी ताजमहल गये भी नहीं। जिसके बाद यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर चुटकी ली।

अखिलेश यादव के इस ट्वीट से अंदाजा लगाया जा रहा है कि उन्होंने बगैर नाम लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर तंज कसा है। दरअसल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जहां अपनी पत्नी से दूर रहते हैं। वहीं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने तो शादी ही नहीं की है। मोदी शादीशुदा हैं लेकिन वह कई वर्षों से अपनी पत्नी जशोदा बेन से अलग रहते हैं, वहीं सीएम योगी संन्यासी हैं। फिलहाल तो अखिलेश के इस तंज भरे ट्वीट का मतलब तो वह खुद ही बेहतर बता सकते हैं।

ताजमहल पर चल रहा विवाद

आपको बताते चलें कि यूपी में योगी सरकार आने के बाद ताजमहल को लेकर काफी विवाद भी हुआ था। प्रदेश की सरकार की ओर से जो सालाना बजट बजट पेश किया गया उसमें राज्य के धार्मिक और सांस्कृतिक नगरों को बढ़ावा देने के लिए ‘हमारी सांस्कृतिक विरासत’ के नाम से एक अलग कोष आवंटित किया गया जिसमे ताजमहल को शामिल नहीं किया गया। भाजपा नेता संगीत सोम ने ताजमहल पर विवादित बयान देते हुए कहा था कि ताज महल मुगलों ने बनाया था और उसे देश के इतिहास से मिटा दिया जाएगा। 

Loading...