Monday , January 25 2021

यूपी में दोपहर बाद मतदान ने पकड़ी रफ्तार, 12 बजे तक 20.36 प्रतिशत हुई वोटिंग

उत्तर प्रदेश विधान परिषद की 11 सीटों के लिए मंगलवार को कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच मतदान सुबह आठ से शुरू हो गए हैं। मतदान शाम पांच बजे तक होगा। शुरुआती दौर में मतदान की गति काफी धीमी रही। चुनाव में शुरुआती दो घंटे में मात्र छह फीसद ही वोट पड़े। हालांकि दोपहर तक मतदान ने कुछ रफ्तार पकड़ी। दोपहर 12 बजे तक 20.36 फीसद वोटिंग हुई है। खंड स्नातक की पांच व खंड शिक्षक की छह सीटों के लिए कुल 199 प्रत्याशी किस्मत आजमा रहे हैं। कानपुर नगर, कानपुर देहात और उन्नाव छोड़कर यूपी के 72 जिलों में मतदान हो रहा है। मतगणना तीन दिसंबर को होगी और उसी दिन परिणाम भी आने की संभावना है। इस चुनाव में भारतीय जनता पार्टी और समाजवादी पार्टी के बीच कड़ा मुकाबला है।

विधान परिषद चुनाव में दोपहर 12 बजे तक 20.36 फीसद वोटिंग हुई है। आगरा खंड स्नातक में 11.57, इलाहाबाद-झांसी खंड स्नातक में 14.13, लखनऊ खंड स्नातक में 12.36, मेरठ खंड स्नातक में 13.30 और वाराणसी खंड स्नातक में 12.72 फीसद वोटिंग हुई है। इसी प्रकार आगरा खंड शिक्षक में 28.32, बरेली-मुरादाबाद खंड शिक्षक में 29.14, गोरखपुर-फैजाबाद खंड शिक्षक में 29, लखनऊ खंड शिक्षक में 23.70, मेरठ खंड शिक्षक में 21.60 और वाराणसी खंड शिक्षक में 28.16 फीसद मतदान हुआ है।

फतेहपुर में मतदाता राजकीय बालिका इंटर कॉलेज के मतदान केंद्र में वोट डालने पहुंचे तो सूची में नाम न होने पर हंगामा शुरू कर दिया। भाजपा जिला अध्यक्ष आशीष मिश्र ने मतदान केंद्र की सूची में 300 मतदाताओं के नाम न होने की शिकायत डीएम संजीव सिंह से की और मतदाताओं के लिए वोट का अधिकार मांगा। डीएम व एसडीएम ने मतदाताओं के नाम का मिलान किया तो इनका बूथ जीटी रोड स्थिति राजकीय इंटर कॉलेज में मिला। इसके बाद हंगामा शांत हुआ।

विधान परिषद की 11 सीटों के लिए हो रहे चुनाव में शुरुआती दो घंटे में छह फीसद वोट पड़े हैं। आगरा खंड स्नातक में 3.52, इलाहाबाद-झांसी खंड स्नातक में 3.67, लखनऊ खंड स्नातक में 3.41, मेरठ खंड स्नातक में 5.44 और वाराणसी खंड स्नातक में 4.20 फीसद वोटिंग हुई है। इसी प्रकार आगरा खंड शिक्षक में 5.95, बरेली-मुरादाबाद खंड शिक्षक में 8.20, गोरखपुर-फैजाबाद खंड शिक्षक में 8.50, लखनऊ खंड शिक्षक में 7.82, मेरठ खंड शिक्षक में 7.43 और वाराणसी खंड शिक्षक में आठ फीसद मतदान हुआ है।

कैबिनेट मंत्री ब्रजेश पाठक राजधानी लखनऊ के अवध गर्ल्स कॉलेज मतदान केंद्र पहुंचे तो आने विश्वविद्यालय के दोस्त और समाजवादी पार्टी के पूर्व नगर सचिव राम सागर यादव से मुलाकात हो गई। पार्टी विचारधारा को दरकिनार कर मंत्री सपा नेता का हाथ पकड़कर अपने साथ टहलते रहे।

इटावा में समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव व राज्यसभा सदस्य प्रोफेसर रामगोपाल यादव ने सैफई मतदान केंद्र पर आगरा खंड स्नातक क्षेत्र के लिए वोट डालाl वहीं, सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव के छोटे भाई राजपाल यादव और उनकी पत्नी पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष प्रेमलता यादव ने सैफई ब्लॉक केंद्र पर पहुंचकर मतदान किया।

लखनऊ खंड स्नातक निर्वाचन क्षेत्र से विधान परिषद सदस्य के लिए कान्ति सिंह ने चुनाव में धांधली का आरोप लगाया है। इसी सीट से 2014 से लेकर 2020 तक एमएलसी रहीं कान्ति सिंह ने कहा कि सत्ताधारी दल दबाव बना रहा है। हमारें एजेंटों को पुलिस कर अरेस्ट कर रही है। इस संबंझ में निर्वाचन आयोग से शिकायत की है। उन्होंने कहा कि सीतापुर, हरदोई और लखीमपुर खीरी में ज्यादा दिक्कत है।

लखनऊ में धीमी रफ्तार से 34 केंद्रों पर चल रहा मतदान : लखनऊ में शिक्षक स्नातक एमएलसी सीट के लिए मतदान मंगलवार सुबह 8:00 बजे शुरू हो गया। सुबह मतदान की रफ्तार काफी धीमी नजर आई। अधिकांश मतदान केंद्रों पर सुरक्षाकर्मी और मतदान कर्मियों को छोड़कर इक्का-दुक्का वोटर ही नजर आए। माना जा रहा है कि जैसे से दिन चलेगा मतदान की गति बढ़ेगी। राजधानी में शिक्षक और स्नातक सीट के लिए करीब 34 मतदान केंद्रों पर चुनाव हो रहा है। जिला मजिस्ट्रेट अभिषेक प्रकाश के मुताबिक सभी मतदान केंद्रों पर फिलहाल सुचारु रूप से वोटिंग हो रही है। स्नातक सीट पर सबसे अधिक प्रत्याशी हैं स्नातक के लिए कुल 24 उम्मीदवार मैदान में हैं, जबकि शिक्षक सीट के लिए केवल 11 प्रत्याशी आमने-सामने हैं। राजधानी में स्नातक वोटरों का आंकड़ा करीब 96000 के करीब हैं।

कोरोना संक्रमण को लेकर विशेष सतर्कता : भारत निर्वाचन आयोग ने कोरोना संक्रमण को देखते हुए मतदान में विशेष सतर्कता बरतने व कोविड-19 गाइडलाइन का पालन करने के निर्देश दिए हैं। विधान परिषद में लखनऊ, वाराणसी, आगरा, मेरठ व इलाहाबाद-झांसी खंड स्नातक के अलावा लखनऊ, वाराणसी, आगरा, मेरठ, बरेली-मुरादाबाद व गोरखपुर-फैजाबाद खंड शिक्षक सीट के लिए यह चुनाव हो रहा है। कोरोना संक्रमण को देखते हुए मतदान केंद्रों पर मतदान कर्मियों व मतदाताओं की सुरक्षा के लिए थर्मल स्कैनर, हैंड सैनिटाइजर, ग्लव्ज, फेस मास्क, फेस शील्ड, पीपीई किट, साबुन, पानी आदि की पर्याप्त व्यवस्था की गई है।

मतदेय स्थल पर अधिकतम एक हजार मतदाता : पांच खंड स्नातक निर्वाचन क्षेत्रों में कुल 12,69,817 मतदाता 1808 मतदेय स्थलों पर अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। इसी प्रकार खंड शिक्षक की छह सीटों में कुल 2,06,335 मतदाता 813 मतदेय स्थलों पर वोट डालेंगे। खंड स्नातक सीट पर कुल 114 व खंड शिक्षक सीट पर 85 प्रत्याशी चुनाव मैदान में डटे हैं। कोरोना को देखते हुए इस बार चुनाव आयोग ने प्रत्येक मतदेय स्थल पर अधिकतम एक हजार मतदाता रखे हैं।

मतदान पर पैनी नजर, 11 प्रेक्षक तैनात : मुख्य निर्वाचन अधिकारी अजय कुमार शुक्ला ने बताया कि मतदान पर पैनी नजर रखने के लिए भारत निर्वाचन आयोग ने 11 प्रेक्षक तैनात किए हैं। इसके अलावा 952 सेक्टर मजिस्ट्रेट व 413 जोनल मजिस्ट्रेट भी चुनाव पर नजर रखेंगे। प्रत्येक मतदेय स्थल पर माइक्रो ऑब्जर्वर भी तैनात किए गए हैं। साथ ही वहां की वीडियोग्राफी भी कराई जाएगी। चुनाव प्रक्रिया में कुल 848 भारी वाहन, 1754 हल्के वाहन तथा 12,319 मतदान कर्मी लगाए गए हैं।

Loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com