Monday , September 26 2022

पाक, US की टीम को सीधे हाफिज तक नहीं पहुंचने देगा

भले ही पाकिस्तान आतंकवाद से लड़ाई में अपनी कुर्बानियों की कहानी सुनाता फिर रहा हो लेकिन हकीकत यही है कि वह अपने देश में आतंकियों को पनाह दे रहा है। हाफिज सईद पर पाक के दावों की सच्चाई जानने के लिए संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की मॉनिटरिंग टीम इस हफ्ते पाकिस्तान जाने वाली है लेकिन इससे पहले ही ऐसी खबरें आ रही हैं कि इस टीम को सीधे तौर पर हाफिज या उससे जुड़े संगठन जमात-उद-दावा की जांच नहीं करने दी जाएगी।पाक, US की टीम को सीधे हाफिज तक नहीं पहुंचने देगा

पाकिस्तान के ‘द नेशन’ के मुताबिक, डिप्लोमैटिक सूत्रों ने यह जानकारी दी है। पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि UNSC की टीम का दौरा पाकिस्तान को दबाने के लिए नहीं है। 

एक अधिकारी ने बताया, ‘UNSC टीम प्रतिबंधित संगठनों और संयुक्त राष्ट्र के प्रतिबंधों के कार्यान्वयन से जुड़ी आधिकारिक जानकारी पर चर्चा करने आ रही है। वे जेयूडी या हाफिज की सीधे जांच की मांग नहीं करेंगे और अगर वे ऐसा करते हैं तो हम यह होने नहीं देंगे। हम काफी समय से बातचीत कर रहे थे और यह दौरा तय किया गया है।’ 

एक अन्य अधिकारी के मुताबिक यूएन की टीम पाकिस्तानी अधिकारियों के साथ प्रतिबंधित संगठनों की सूची पर बैठक करेगी। अधिकारी ने कहा, ‘हम संयुक्त राष्ट्र के प्रतिबंधों को लागू कर रहे हैं, इसलिए घबराने की बात ही नहीं है।’ 
UNSC की दो दिवसीय यात्रा 26 जनवरी से शुरू होगी। संयुक्त राष्ट्र की प्रतिबंध सूची में जेयूडी, अल-कायदा, तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान, लश्कर-ए-झांगवी, फलाह-ए-इंसानियत फाउंडेशन, लश्कर-ए-तैयबा और अन्य संगठन तथा लोग शामिल हैं। सईद और उससे जुड़े संगठनों पर प्रतिबंधों को पूरी तरह लागू करने में विफल रहने को लेकर भारत और अमेरिका द्वारा पाकिस्तान पर दबाव बढ़ाने के बीच संयुक्त राष्ट्र की निगरानी टीम यह दौरा कर रही है। हालांकि, पाकिस्तानी अधिकारी जोर देकर इसे नियमित दौरा बता रहे हैं। सईद को दिसंबर, 2018 में संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्ताव संख्या 1267 में शामिल किया गया था। 
Loading...