Tuesday , September 27 2022

अभी अभी : पूर्व दूरसंचार मंत्री ए राजा ने विनोद राय को बताया भाड़े का हत्यारा

नई दिल्ली।  पूर्व दूरसंचार मंत्री ए राजा ने पूर्व नियंत्रक एवं महालेखापरीक्षक (कैग) के अध्यक्ष विनोद राय को भाड़े का हत्यारा करार देते हुए कहा कि उन्होंने संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन-2 (संप्रग-2) को खत्म करने का काम किया था।  राजा ने अपनी पुस्तक टूजी सागा अनफोल्ड्स के विमोचन के मौके पर रविवार यहां पत्रकारों से कहा कि उन्हें जेल भेजा जाना शक्ति का दुरुपयोग था तथा राष्ट्र के साथ धोखाधड़ी थी। उन्होंने कहा कि कुछ लोग संप्रग-2 के खिलाफ काम कर रहे थे और उन्होंने राय का इस्तेमाल किया।

राजा को हाल ही में केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) की एक अदालत ने टूजी घोटाले के मामले में बरी कर दिया है। राजा ने कहा, विनोद राय को शक्ति के दुरुपयोग तथा देश के साथ धोखाधड़ी के लिए सजा मिलनी चाहिए। वह भाड़े के हत्यारे थे। उनके कंधे का इस्तेमाल संप्रग-2 सरकार को खत्म करने के लिए किया गया। कुछ ताकतें संप्रग-2 सरकार को गिराना चाहती थी और उन्होंने विनोद राय का इस्तेमाल बंदूक की तरह किया।

राजा ने इस मौके पर पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की सराहना की। उन्होंने कहा, उनके द्वारा मिले संरक्षण और मार्गदर्शन के कारण ही मैं गिरोह को तोडऩे में कामयाब हुआ था और तब कॉल की दरें सस्ती हुई थीं। वह चाहते थे कि स्पेक्ट्रम सार्वजनिक इस्तेमाल के लिए उपलब्ध की जाए।

राजा ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के साथ किसी भी तरह के जुड़ाव की संभावनाओं को खारिज करते हुए कहा कि उसे टूजी विवाद से फायदा हुआ है। उन्होंने कहा, हम धर्मनिरपेक्ष हैं। हम हमेशा धर्मनिरपेक्ष ताकतों के साथ ही रहेंगे। कोई भी बदलाव सिर्फ नेतृत्व तय करेगा।

 
Loading...