Monday , September 26 2022

अभी अभी : धांधली के शक में SBI समेत बड़े बैंकों ने सस्पेंड किए बिटक्वाइन एक्सचेंज के खाते

नई दिल्ली । देश के दिग्गज सरकारी और निजी बैंकों ने धांधली के शक में बिटक्वाइन एक्सचेंज से जुड़े कुछ बड़े खातों को सस्पेंड कर दिया। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक जिन बैंकों में खाते सस्पेंड किए गए हैं उनमें स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, एक्सिस बैंक, एचडीएफसी बैंक, ICICI बैंक और यस बैंक शामिल हैं। बैंक को इन खातों से संदिग्ध लेन देन का शक है। इसकी जानकारी इस मामले से जुड़े कुछ लोगों ने साझा की।

कुछ खातों को सस्पेंड करने के अलावा बैंकों ने बिटक्वाइन एक्सचेंज के प्रमोटरों से उधार ली गई राशि के एवज में और ज्यादा जमानत राशि जमा कराने की भी बात कही है। इस पूरे मामले की जानकारी रखने वाले एक व्यक्ति ने यह बताया कि पिछले महीने बैंक ने प्रमोटर्स से 1:1 के अनुपात जमानत राशि जमा करवाने की बात कही। इसके अलावा बैंकों ने बिटक्वाइन एक्चेंज के उन खातों से नकदी निकासी की सीमा भी तय कर दी है जो अभी भी संचालित हो रहे हैं।

एक दूसरे व्यक्ति ने यह जानकारी दी कि सभी बैंक टॉप बिटक्वाइन एक्सचेंजों के चालू खातों की जांच कर रहे हैं। फिलहाल बैंकों की ओर से Zebpay, Unocoin, CoinSecure और BtcxIndia समेत टॉप 10 बिटक्वाइन एक्सचेंज के खिलाफ कार्रवाई की है। हालांकि एक्सचेंज या प्रमोटर्स की ओर से अभी तक ऐसी किसी कार्रवाई की आधिकारिक पुष्टि नहीं की है। यूनोक्वाइन के प्रोमटर सात्विक विश्वनाथ ने कहा कि बैंक ने ऐसी किसी भी कार्रवाई के लिए एक्सचेंज या एक्सचेंज के किसी भी प्रमोटर से संपर्क नहीं किया है। इसके अलावा किसी भी एक्सचेंज की ओर से कोई भी  प्रतिक्रिया नहीं दी गई। साथ ही किसी भी बैंक की ओर से इस पूरे मामले पर कोई भी प्रतिक्रिया नहीं दी गई है।

बिटक्वाइन या अन्य क्रिप्टोकरेंसी में लेनदेन करने वाले हजारों लोगों को केंद्र सरकार ने टैक्स नोटिस भेजा है। आयकर विभाग की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक, एक सर्वेक्षण में देश भर में विभिन्न क्रिप्टोकरेंसी में बीते 17 महीनों में 3.5 अरब डॉलर (करीब 223 अरब रुपये) के लेनदेन की बात सामने आई है। इसके निवेशकों में तकनीकी रूप से उन्नत युवा, रियल एस्टेट से जुड़े लोग और आभूषण विक्रेता बड़े पैमाने पर शामिल हैं। पुणे, बेंगलुरु, मुंबई, दिल्ली समेत नौ एक्सचेंजों से जानकारी जुटाने के बाद ऐसे कई लोगों को नोटिस भेजा गया है।

Loading...