Monday , September 26 2022

बेंजामिन नेतन्याहू का भारत दौरा: दोनों देशों के बीच हो सकते हैं ये अहम समझौते

पीएम नरेंद्र मोदी को अपना करीबी दोस्त बताने वाले इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू रविवार को 6 दिनों के भारत दौरे पर आ रहे हैं। दोनों नेताओं के बीच के संबंधों का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि जब पीएम मोदी बीते साल इजरायल दौरे पर गए थे तो नेतन्याहू प्रोटोकॉल तोड़कर उन्हें एयरपोर्ट पर लेने आए थे। अब पीएम मोदी प्रोटोकॉल तोड़कर नेतन्याहू को लेने के लिए हवाई अड्डे पहुंचेंगे।आइए, जानते हैं इजरायल के पीएम के इस गर्मजोशी भरे दौरे से भारत की कौन सी उम्मीदें हो सकती हैं पूरी… बेंजामिन नेतन्याहू का भारत दौरा: दोनों देशों के बीच हो सकते हैं ये अहम समझौतेडिफेंस और ऐग्रिकल्चर में होंगे अहम समझौते
नेतन्याहू के इस दौरे में डिफेंस, ऐग्रिकल्चर और वॉटर मैनेजमेंट से जुड़े कई अहम समझौते हो सकते हैं। हालांकि भारत में इजरायली राजदूत डेनियल कार्मन ने कहा कि इस दौरे में इनोवेशन सबसे अहम अजेंडा रह सकता है। हाल ही में मीडिया से बातचीत करते हुए कार्मन ने कहा था कि ऐग्रिकल्चर और वॉटर के क्षेत्र में सहयोग को लेकर करार हो सकते हैं। पिछले साल जुलाई में पीएम मोदी के इजरायल दौरे के वक्त भी जल प्रबंधन टॉप अजेंडे पर था।

गंगा सफाई में मिल सकती है मदद 
जल प्रबंधन की बात करें तो इजरायल में समुद्र के खारे पानी को पीने योग्य जल में तब्दील करने की तकनीक से भारत सीख सकता है। इसके अलावा गंगा की स्वच्छता के लिहाज से भी इजरायल का सहयोग महत्वपूर्ण हो सकता है। नेतन्याहू के इस दौरे में दोनों देशों के बीच इसे लेकर अहम करार हो सकता है। 

इनोवेशन होगा टॉप अजेंडा 

इजरायली राजदूत कार्मन ने कहा, ‘हालांकि मैं यह कहना चाहूंगा कि दोनों नेताओं की मीटिंग के वक्त टेबल पर सबसे अहम अजेंडा इनोवेशन का होगा।’ उन्होंने कहा, ‘इनोवेशन ऐसे किसी भी क्षेत्र को छूता है, जिनमें हम सहयोग करना चाहते हैं। ऐग्रिकल्चर, आईटी और रिसर्च ऐंड डिवेलपमेंट से लेकर किसी भी क्षेत्र में इनोवेशन किया जा सकता है।’ 

इसलिए एक और मेहमान को अहमदाबाद ले जाएंगे नेतन्याहू 
चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग और जापान के शिंजो आबे को पीएम नरेंद्र मोदी अहमदाबाद घुमाने ले गए थे। अब नेतन्याहू को भी वह गुजरात के इस अहम शहर में स्वागत करेंगे। राजनीतिक जानकारों का मानना है कि पीएम मोदी ने अहमदाबाद को इसलिए दूसरी राजधानी के तौर पर विकसित किया है ताकि वह विदेशी नेताओं को अपने सीएम रहते हुए गुजरात के विकास की झलक दिखा सकें। बता दें कि सितंबर, 2014 में साबरमती रिवर फ्रंट पर पीएम नरेंद्र मोदी और चीनी प्रेजिडेंट शी चिनफिंग की झूला झूलते हुए तस्वीरें दुनिया भर के मीडिया में प्रकाशित हुई थीं।

Loading...