Wednesday , September 28 2022

बड़ीखबर : मिशन 2019 के लिए हुड्डा के बाद अब चौटाला के गढ़ पर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह भरेंगे हुंकार…

चंडीगढ़ । सरकार और संगठन के कामकाज की पड़ताल करने हरियाणा आ रहे भाजपा अध्यक्ष अमित शाह इस बार पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला के गढ़ में सेंधमारी करेंगे। शाह छह माह पहले पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के गढ़ रोहतक में आए थे। तीन दिन के प्रवास के दौरान उन्होंने सरकार और संगठन के काम को गति प्रदान की थी। इस बार शाह जींद में सरकार व संगठन के साथ बैठकें करेंगे और मिशन 2019 के तहत कार्यकर्ताओं को चुनावी मंत्र देकर जाएंगे।

रोहतक जाट और जींद बांगर-जाटलैंड हैं। हरियाणा में दस लोकसभा सीटें हैं, जिनमें से तीन रोहतक, हिसार और सिरसा भाजपा के खाते में नहीं है। रोहतक से दीपेंद्र हुड्डा कांग्रेस, हिसार से दुष्यंत चौटाला व सिरसा से चरणजीत सिंह रोड़ी इनेलो के सांसद हैं। वहीं जींद जिले में पांच विधानसभा क्षेत्र आते हैं, जिनका अधिकतर हिस्सा हिसार संसदीय क्षेत्र में पड़ता है। इन पांच सीटों में से तीन पर इनेलो, एक पर केंद्रीय मंत्री बीरेंद्र सिंह की पत्नी प्रेमलता और एक पर आजाद विधायक जसबीर देसवाल चुनाव जीतकर आए हैं। जींद इनेलो का परंपरागत गढ़ माना जाता है। लिहाजा भाजपा की पूरी कोशिश चौटाला का गढ़ भेदने की है।

शाह के कार्यक्रमों को अंतिम रूप प्रदान करने में हरियाणा भाजपा के अध्यक्ष सुभाष बराला जुट गए हैं। शाह 15 फरवरी को जींद आएंगे। इस दिन राज्य के सभी 90 विधानसभा क्षेत्रों में एक साथ मोटरसाइकिल रैली भी निकलेगी। जींद के करीब सौ किलोमीटर के दायरे में जितने भी हलके पड़ेंगे, उन सभी के कार्यकर्ताओं को मोटरसाइकिलों के काफिले के साथ जींद बुलाया जा सकता है।

जींद से अधिक दूरी वाले हलकों से कार्यकर्ता निकटतम स्थानों पर आकर मोटरसाइकिल रैली निकालेंगे। रैली के जरिए शाह कार्यकर्ताओं को प्रोत्साहित करेंगे। इसी दिन शाह जींद में मंत्रियों, विधायकों और सांसदों के साथ बैठकें करेंगे। साथ ही पार्टी के प्रमुख कार्यकर्ताओं के साथ भी अलग से मीटिंग करने की योजना है। शाह के दौरे से पहले सीएम भी कार्यकर्ताओं को खुश करने में जुटे हैैं।

जींद बदलना पड़ा तो हिसार होगा दूसरी पसंद

हरियाणा प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सुभाष बराला का कहना है कि राष्ट्रीय अध्यक्ष जी का हरियाणा आने का कार्यक्रम पहले से तय था। जब वे रोहतक आए थे, तभी उन्होंने छह माह बाद आने और मोटरसाइकिल रैली निकालने का संकेत दिया था। इसकी तैयारियां की जा रही हैं। जल्द ही प्रमुख पदाधिकारियों की बैठक में समस्त कार्यक्रमों को अंतिम रूप दिया जाएगा। मोटरसाइकिल यात्रा का रूट मैप तैयार होगा। शाह के जींद में ही आने की संभावना है। फेरबदल हुआ तो हिसार आ सकते हैैं।

Loading...