Saturday , October 1 2022

अभी अभी : गृह राज्य मंत्री रिजिजू बोले- प्रत्यर्पण में विलंब के लिए मुद्दे उठा रही है माल्या की टीम

लंदन: भारत ने शनिवार को कहा कि भगोड़े शराब कारोबारी विजय माल्या की बचाव टीम विभिन्न मुद्दे उठा रही है ताकि उसके प्रत्यर्पण में विलंब किया जा सके. माल्या 9,000 करोड़ रुपये की जालसाजी और धनशोधन का आरोपी है. गृह राज्य मंत्री किरण रिजिजू ने कहा कि भारत सरकार को इस मामले में अपने सबूतों पर पूरा भरोसा है और प्रत्यर्पण के मामलों में ब्रिटेन से मिले सहयोग से संतुष्ट है.

सुरक्षा मुद्दों पर बातचीत के लिए ब्रिटेन पहुंचे रिजिजू
सुरक्षा मुद्दों पर बातचीत के लिए ब्रिटेन पहुंचे रिजिजू ने कहा, ‘‘बचाव पक्ष के वकील मामले में विलंब करने के लिए मुद्दे उठा रहे हैं…हमने पूरी तैयारी की है और हमारी तरफ से जो जरूरी था वो किया गया है. ब्रिटेन में प्रशासन ने सकारात्मक रूप से प्रतिक्रिया दी है और हम प्रत्यर्पण के दूसरे सभी लंबित मामलों में पूरी कोशिश कर रहे हैं.’’ उन्होंने कहा, ‘‘दोनों तरफ से सहयोग है. सुरक्षा मंत्री बेन वैलेक के साथ बातचीत के दौरान हमने ब्रिटिश सरकार का आभार प्रकट किया.’’ माल्या के प्रत्यर्पण मामले की सुनवाई कर रहे ब्रिटिश न्यायाधीश ने गुरुवार को माल्या को दो अप्रैल तक के लिए जमानत दे दी थी.

 रिजिजू ने इस बात की पुष्टि की है कि अपराधिक रिकॉर्ड साझा करने और गैरकानूनी प्रवासियों की वासी से जुड़े समझौते को लेकर दो सहमति पत्रों को तैयार करने की प्रक्रिया शुरू की गयी हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अप्रैल में प्रस्तावित ब्रिटेन दौरे के समय इन सहमति पत्रों पर औपचारिक रूप से हस्ताक्षर किया जाएगा. ब्रिटेन की नवनियुक्त आव्रजन राज्य मंत्री कैरोलीन नोकेस के साथ बातचीत के दौरान रिजिजू ने कहा कि वह मोदी की यात्रा के लिए आधार तैयार करने में सफल रहे हैं.

 
Loading...