Tuesday , September 27 2022

चालू वित्त वर्ष में प्रत्यक्ष कर 18 फीसदी बढ़ा

नई दिल्ली : चालू वित्त वर्ष में अप्रैल और दिसंबर के बीच देश का प्रत्यक्ष कर (डायरेक्ट टैक्स) संग्रह 6.56 लाख करोड़ रुपये रहा, जो पिछले वर्ष की इसी अवधि की तुलना में 18.2 फीसदी ज्यादा है.

इस बारे में वित्त मंत्रालय द्वारा जारी बयान के अनुसार दिसंबर 2017 तक हुए प्रत्यक्ष कर संग्रह के अनंतिम आंकड़ों से पता चला है कि इस दौरान 6.56 लाख करोड़ रुपये का शुद्ध संग्रह हुआ है, जो पिछले वर्ष की समान अवधि में हुए शुद्ध संग्रह की तुलना में 18.2 फीसदी अधिक है. यहां यह उल्लेख उचित है कि केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) के अनुसार , प्रत्यक्ष करों का शुद्ध संग्रह वित्त वर्ष 2017-18 के लिए प्रत्यक्ष करों के कुल बजट अनुमानों (9.8 लाख करोड़ रुपये) का 67 फीसदी है.

गौरतलब है कि अप्रैल-दिसंबर 2017 की अवधि में प्रत्यक्ष करों का सकल संग्रह 12.6 फीसदी की वृद्धि के साथ 7.68 लाख करोड़ रुपये  तक पहुंच गया.जबकि दिसंबर 2017 तक अग्रिम कर के रूप में 3.18 लाख करोड़ रुपये की राशि प्राप्त हुई है, जो पिछले वर्ष की समान अवधि में भुगतान किए गए अग्रिम कर की तुलना में 12.7 फीसदी ज्यादा है.

Loading...