Tuesday , September 27 2022

गणेश विसर्जन के दौरान देश में कई स्थानों पर हुए हादसे

गणेश चतुर्थी का पर्व कई लोगों के घरों में खुशियां लेकर आया तो कई लोगों में घरों में मातम छा गया। देश के कई राज्यों में शुक्रवार को हुए गणेश विसर्जन के दौरान कई बड़े हादसे हुए जिसमें कई लोगों को अपनी जान गवानी पड़ी।

शुक्रवार को हुए गणेश विसर्जन के दौरान देश में कई स्थानों पर हादसे हुए। इन हादसों ने कई लोगों की जान ले ली।

वहीं, कुरुक्षेत्र में भी गणेश विसर्जन के समय बड़ा हादसा हुआ। बता दें कि गणेश विसर्जन करके एक परिवार लौट रहा था। शाहाबाद में हुए सड़क हादसे में तीन सदस्यों की मौत हो गई।

बताया जा रहा है कि मृतक अपने बेटे और बेटी को साथ लेकर गया था। वापस लौटते हुए गांव के पास ही बाइक को ट्रक ने टक्‍कर मार दी।

शाहाबाद-पिपली जीटी रोड पर गांव शरीफगढ़ पुल पर ट्रक की चपेट में आने से बाप-बेटा व बेटी की मौत हो गई। मृतकों की पहचान जसविन्द्र सिंह 44 वर्ष, समर 12 वर्ष और तान्या 7 वर्ष निवासी गांव धंतौड़ी शाहाबाद के रूप में हुई है। पुलिस ने मृतक जसविन्द्र के भाई नरदेव सिंह की शिकायत पर ट्रक चालक के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

उन्नाव में भी गणेश विसर्जन के समय हुआ हादसा

सफीपुर क्षेत्र के परियर गंगा घाट पर गणेश मूर्ति विसर्जन के दौरान पांच किशोर गहराई में डूब गए। दो की मौत हो गई, जबकि एक का कानपुर के एलएलआर अस्पताल में इलाज चल रहा है। अन्य दो की हालत सामान्य होने पर घर भेज दिया गया।

माखी के हमीरदेव निवासी नीलू और अभिषेक पांडेय ने घर के बाहर गणेश मूर्ति की स्थापना की थी। शुक्रवार दोपहर लगभग तीन बजे गाजे-बाजे के साथ गांव के कई लोगों के साथ ट्रैक्टर-ट्राली व चौपहिया वाहनों से मूर्ति विसर्जन के लिए परियर गंगा घाट पहुंचे थे।

विसर्जन के दौरान इसी मुहल्ले के 17 वर्षीय लवकेश पुत्र जय सिंह, उसके परिवार का 17 वर्षीय प्रशांत पुत्र शिवनरेश सिंह, 16 वर्षीय विशाल पुत्र रामकिशोर सेठ, अभिषेक पुत्र रामस्वरूप व सुमित पुत्र रामशंकर गहराई में जाकर डूब गए।

हरियाणा में भी हुआ हादसा

हरियाणा के महेंद्रगढ़ जिले में शुक्रवार शाम करीब साढ़े सात बजे गणेश प्रतिमा का विसर्जन करने गए श्रद्धालु अचानक नहर में गिर कर बह गए। आस-पास के लोगों ने बड़ी मशक्कत के बाद आठ लोगों को नहर से बाहर निकाला।

इनमें से चार की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि चार को महेंद्रगढ़ नागरिक अस्पताल में भर्ती कराया गया। बाकी लोगों की तलाश जारी है। गणेश उत्सवर पर हुई ऐसी घटना से हर कोई सन्न है।

बरनाला में भी हुई दुर्घटना

रामबाग रोड एलबीएस कालेज के नजदीक से श्री गणपति विसर्जन के दौरान रणीके नहर में डूबने से एक 22 वर्षीय युवक की मौत हो गई।

जानकारी देते हुए थाना सदर धूरी के प्रभारी इंस्पेक्टर सुखविंदर सिंह ने बताया कि बरनाला के राम भाग रोड से बड़ी गिनती में श्रद्धालु गणपति विसर्जन करने आए थे। इस दौरान 22 वर्षीय युवक सुनील शर्मा दीक्षित पुत्र जतिंदर नाथ रिम्पी का अचानक ही पैर फिसल गया। जिससे वह नहर में जा गिरा और पानी के तेज बहाव के साथ बह गया व पानी में डूबने से उसकी मौत हो गई।

सोनीपत में यमुना में पिता-पुत्र सहित चार डूबे, दो के शव बरामद

भगवान गणेश की मूर्तियों के विसर्जन के दौरान चार श्रद्धालु यमुना के मीरानपुर और बेगा घाट पर डूब गए। मीमारपुर घाट पर पिता-पुत्र सहित परिवार के तीन श्रद्धालु डूब गए, जिनमें से दो के शव बरामद कर लिए गए हैं।

वहीं, बेगा घाट पर एक श्रद्धालु की डूबने से मौत हो गई। हादसे के दौरान घाट पर लोगों की भीड़ थी। श्रद्धालुओं, गोताखोरों और पुलिस की कड़ी मशक्कत के बावजूद डूबने वालों को नहीं बचाया जा सका।

बेगा घाट पर डूबा रेहड़ा बस्ती का सुमित

वहीं, गन्नौर के रेहड़ा बस्ती के रहने वाले सुमित अपने स्वजन व पड़ोसियों के साथ गणेश प्रतिमा का विसर्जन करने के लिए बेगा घाट पर गया था।। प्रतिमा विसर्जन के लिए वह छह सहयोगी युवकों के साथ यमुना नदी में अंदर घुसा, लेकिन सभी युवक नदी में डूबने लगे।

मौके पर मौजूद नाव चालक ने किसी तरह डूब रहे छह युवकों को बचा लिया, लेकिन सुमित का कहीं पता नहीं चला। सूचना मिलने पर थाना गन्नौर पुलिस मौके पर पहुंची और गोताखोर की मदद से देर शाम घाट के पास से ही सुमित का शव बरामद किया। स्वजन ने बताया कि तीन महीने पहले ही सुमित का विवाह हुआ था।

महेन्द्रगढ़ में नहर में डूबने से 4 लोगों की मौत, 4 की हालत गंभीर

महेंद्रगढ़ जिले में शुक्रवार शाम करीब साढ़े सात बजे गणेश प्रतिमा का विसर्जन करने गए आठ श्रद्धालु अचानक नहर में डूब गए। आसपास के लोगों ने कड़ी मशक्कत के बाद सभी को नहर से बाहर निकाला। नहर में डू

Loading...