बोस्निया के कसाईल म्लादिच को मिली सजा

ब्रेनित्सा। बोस्निया में वर्ष 1995 में हुए नरसंहार, मानवता के विरूद्ध किए जाने वाले अपराध और युद्ध अपराधों हेतु संयुक्त राष्ट्र ने पूर्व सर्ब कमांडर राटको म्लादिच को दोषी ठहराया है। इस तरह से दोषी ठहराते हुए न्यायालय ने उसे उम्रकैद की सजा सुनाई है। मिली जानकारी के अनुसार, राटको म्लादिच जिसे बोस्निया का कसाई कहा जाता है उसने सेना का नेतृत्व करते हुए स्रेबेनित्सा के बोस्निया मुसलमानों के प्रति हिंसा की।बोस्निया के कसाईल म्लादिच को मिली सजा

इस हिंसा में लगभग 10 हजार लोगों की मौत हो गई थी। तो दूसरी ओर लगभग 22 लोगों को वहां से पलायन करना पड़ गया था। गौरतलब है कि, इस मामले में संयुक्त राष्ट्र की युद्ध अपराध ट्रीब्यूनल ने म्लादिच पर 11 आरोप लगाए। हालांकि बचाव पक्ष ने म्लादिच के फेवर में दलील पेश की लेकिन उसे 10 मामलों में दोषी ठहराए जाने से बचाव पक्ष नहीं रोक सका।

अब उच्च अधिशासियों के सामने अपील करने की तैयारी की जा रही है। जिससे म्लादिच को राहत मिल सके। नरसंहार से प्रभावितों का कहना है कि, म्लादिच के लिए आजीवन कारावास की सजा पर्याप्त नहीं है। पीड़ितों ने म्लादिच के लिए, कड़ी सजा की मांग की और कहा कि, उसे आजीवन कारावास दिया जाना काफी नहीं है। नरसंहार में मरने वाले कई लोग थे। इनकी गिनती करना भी आसान नहीं है।

Loading...