पूरी तरह सुरक्षित नहीं हैं आनलाइन डेटिंग ऐप्स

न्यूर्याक| आजकल बड़ी संख्या में युवा डेटिंग ऐप्स का इस्तेमाल कर रहे हैं। हाल में किए गए एक सर्वे में दावा किया गया है कि इन ऐप्स से व्यक्तिगत डेटा चोरी होने का काफी खतरा रहता है। विशेषज्ञों ने नौ लोकप्रिय डेटिंग ऐप्स टिंडर, बम्बल, ओकेक्यूपिड, बडू, मैंबा, जूस्क, हैपन, वीचैट, पैक्टर के अध्ययन के बाद यह निष्कर्ष निकाला। ग्लोबल साइबर सिक्यॉरिटी कंपनी कैस्परस्की लैब द्वारा की गई स्टडी में दावा किया गया है कि कई डेटिंग ऐप्स यूजर्स के महत्वपूर्ण डेटा को सावधानी से संरक्षित नहीं कर रहे हैं।एक स्टेटमेंट में कैस्परस्की लैब ने कहा ऐसे डेटिंग ऐप्स का इस्तेमाल बंद करने की जरूरत नहीं है, बल्कि यह समझने की जरूरत है कि आपका डेटा चोरी हो सकता है। 

पूरी तरह सुरक्षित नहीं हैं आनलाइन डेटिंग ऐप्स

स्टडी में बताया गया है कि ऐसी डेटिंग ऐप्स को इस्तेमाल करने वाले 48 पर्सेंट लोग इन्हें केवल मजे के लिए इस्तेमाल करते हैं, जबकि 13 पर्सेंट लोग सेक्स के लिए जबकि कुछ लोग वास्तव में सीरियस रिलेशनशिप के लिए इनका इस्तेमाल करते हैं। ऑनलाइन डेटिंग करने वाले लगभग एक-चौथाई लोगों ने कहा वे इन डेटिंग प्रोफाइल पर आसानी से सार्वजनिक रूप से अपना पूरा नाम और लोकेशन शेयर करते हैं। एक्सपर्ट्स ने नौ पॉप्युलर डेटिंग ऐप्स टिंडर, बम्बल, ओकेक्यूपिड, बडू, मैंबा, जूस्क, हैपन, वीचैट, पैक्टर का अध्ययन किया और यूजर्स को होने वाले संभावित खतरों का अध्ययन किया।

स्टडी में सामने आया कि इन 9 में से 4 ऐप्स पर अपराधी, यूजर्स द्वारा दिए गए डेटा के आधार उनके बारे में जानकारियां चुरा सकते हैं। इन जानकारियों से वे यूजर की सोशल मीडिया प्रोफाइल और असली नामों का भी पता लगा सकते हैं। एक्सपर्ट्स ने कहा हमने इस रीसर्च को जारी किए जाने से पहले इन ऐप्स के डेवेलपर्स को इन खतरों के बारे में बताया था। कुछ ऐप्स में इन कमियों को ठीक कर लिया गया है जबकि कुछ ने जल्द ही इन कमियों को ठीक किए जाने का वायदा किया है। हालांकि सभी डिवेलपर ने इन कमियों को ठीक किए जाने का कोई ठोस आश्वासन नहीं दिया है।

स्टडी में सामने आया है कि 9 में से 8 ऐंड्रॉयड ऐप्लिकेशन पर साइबर क्रिमिनल्स के लिए काफी ज्यादा सूचनाएं चुराए जाने के लिए उपलब्ध थीं। शोधकर्ताओं ने बताया, ‘अगर कोई आपकी लोकेशन के बारे में जानना चाहता है तो 9 में से 6 ऐप्स यह जानकारी बता देंगी। केवल ओकेक्यूपिड, बम्बल और बडू यूजर की लोकेशन डेटा को लॉक रखती हैं। बाकी के अन्य ऐप्स आपके और दूसरे यूजर के बीच की दूरी बताते हैं। थोड़ी सी कोशिश से ऑनलाइन क्रिमिनल अपने शिकार (यूजर) की सटीक लोकेशन जान सकते हैं।’

Loading...