Thursday , December 9 2021

48 लाख रुपये में बिकेगी डिजनी की ये पेंटिंग!

पिनोकियो की कहानी बताने वाली डिजनी की मूल चित्रकलाओं का एक संग्रह अमेरिका में चल रही एक नीलामी में 75 हजार डॉलर (48 लाख रुपये) में बिक सकता है. संग्रह में शामिल 120 चित्रकलाएं वाटरकलर से बनी हुई हैं.

विविध और अत्यंत बारीकी से बनाई गई यह तस्वीरें डिजनी के बैनर तले बनी वर्ष 1940 की उत्कृष्ट फिल्म के यादगार चरित्रों का चित्रण करती हैं. इन पात्रों में पिनोकियो, गेपेट्टो, ब्लू फेरी और अन्य लोकप्रिय पात्र शामिल हैं.

यह चित्रकलाएं स्टिकर बनाने के लिए बनाई गई थीं जिन्हें बेल्जियम में उत्पादित और बिकने वाली डी ब्यूकेलर कुकीज के डिब्बों पर छापा गया था. इन्हें ग्राहकों द्वारा संकलित किया गया और एक एल्बम में पेस्ट किया गया.

यह तस्वीरें डिजनी के शीर्ष कलाकार द्वारा बनाई गई हैं जिन्हें वाल्ट डिजनी द्वारा विशेष रूप से चुना गया था. यह नीलामी 17 नवंबर से शुरू हुई है और इसका समापन छह दिसंबर को होगा.

जब 29 अरब रुपये में बिकी 500 साल पुरानी पेंटिंग

बीते हफ्ते ही अमेरिका के न्यूयॉर्क में मशहूर आर्टिस्ट लियोनार्दो द विंची की 500 साल पुरानी एक पेंटिंग ‘साल्वाटर मुंडी’ को एक नीलामी में 45.03 करोड़ डॉलर (तकरीबन 29 अरब रुपए) में खरीदी गई. नीलामी करने वाली संस्था क्रिस्टी ने इसकी जानकारी दी कि यह अब तक की सबसे महंगी बिकने वाली पेंटिंग बन गई है.

बता दें कि इससे पहले सबसे महंगी पेंटिंग का कीर्तिमान पाब्लो पिकासो की ‘द वीमेन ऑफ अल्जियर्स’ के नाम था. पिकासो की यह पेंटिंग 2015 में 17.94 करोड़ डॉलर में बिकी थी. इसकी भी नीलामी क्रिस्टी ने ही की थी. क्रिस्टी ने बताया कि ‘साल्वाटर मुंडी’ या ‘सेवियर ऑफ द वर्ल्ड’ पेंटिंग में ईसा मसीह को चित्रित किया गया है. यह उन चुनिंदा 20 पेंटिंग में से है जिसे आम तौर पर विंची की कृति के तौर पर स्वीकार किया जाता है.

Loading...

Join us at Facebook