तिरंगा यात्रा के दौरान लहराया पाकिस्तानी झंडा, मचा बवाल, तीन गिरफ्तार

शाजापुर । जहां पूरे देश की नजर उत्तर प्रदेश के कासगंज जिले में तिरंगा यात्रा के दौरान हुई सांप्रदायिक हिंसा के बाद मचे बवाल पर टिकी हैं। वहीं दूसरी ओर मध्य प्रदेश के शाजापुर जिले में भी तिरंगा यात्रा के दौरान बवाल का एक मामला सामने आया है।

जानकारी के मुताबिक, गणतंत्र दिवस के मौके पर तिरंगा यात्रा में चांद-सितारे बने काले झंडे लेकर शामिल होने पर विवाद की स्थिति पैदा हो गई। जिससे नाराज लोगों ने इसे राष्ट्रीय ध्वज का अपमान मानकर संबंधित युवकों को पुलिस को सौंप दिया।

विरोध के बाद 3 गिरफ्तार

पुलिस ने बिना कार्रवाई उन्हें छोड़ दिया, तो नाराज संगठनों ने गिरफ्तार करने की मांग का ज्ञापन सौंपा। इस पर पुलिस ने छह लोगों के खिलाफ प्रकरण दर्ज तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। जबकि शेष युवकों की तलाश की जा रही है।

क्या है पूरा मामला 

गणतंत्र दिवस के दिन सुबह 11.30 बजे कुछ युवाओं द्वारा निकाली गई तिरंगा यात्रा में शामिल चार-पांच युवकों के हाथों में चांद-सितारे बने काले झंडे देख लोगों ने इसे रोका और झंडे हटाने को कहा। रैली में शामिल लोगों ने झंडे हटाने से मना किया तो विवाद की स्थिति बन गई। लोगों ने विवादित झंडा लेकर चल रहे युवकों को पुलिस के हवाले कर दिया, लेकिन मंडी चौकी प्रभारी एसआई मोनिका एबरियो ने उन्हें बिना कार्रवाई किए समझाइश देकर छोड़ दिया।
इस पर देवकरण परमार निवासी रायकनपुरा ने राष्ट्रध्वज के साथ खिलवाड़ करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की। उन्होंने आरोप लगाया कि रैली के दौरान तिरंगे को जमीन पर गिराया गया। कुछ संगठनों ने भी ज्ञापन सौंपकर संबंधित युवकों को गिरफ्तार करने की मांग की। ज्ञापन में कहा गया कुछ युवकों के हाथों में जो झंडे थे, वह पाकिस्तान का पूर्व झंडा है। अंतत: पुलिस ने शादाब, आदिल, समीर खां तीनों निवासी टिला मोहल्ला सिटी, हसीब, अजहर और अब्दुल के खिलाफ मामला दर्ज किया। शादाब, आदिल और समीर को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया गया, जहां से उन्हें दो दिन के रिमांड पर पुलिस को सौंपा है।
Loading...