बड़ीखबर: शिवसेना के बाद TDP ने भी दिखाए भाजपा को तेवर, गठबंधन तोड़ने के दिए संकेत

अमरावती। शिवसेना के साथ जारी तनातनी के बीच तेलुगू देशम पार्टी (तेदेपा) ने भी तेवर कड़े कर लिए हैं। आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने शनिवार को कहा कि यदि भाजपा उनके साथ गठबंधन जारी नहीं रखना चाहती है तो उनकी पार्टी अपनी राह चलने के लिए तैयार है। हाल के दिनों में राज्य के भाजपा नेताओं ने तेदेपा सरकार की आलोचना की है। आलोचना के जवाब में मुख्यमंत्री ने पहली बार कहा है कि भाजपा के केंद्रीय नेताओं पर ही अपने नेताओं को नियंत्रण में रखने की जवाबदेही है।

संवाददाताओं से बातचीत में तेदेपा प्रमुख नायडू ने कहा कि वह गठबंधन धर्म से बंधे हैं। तेदेपा नेताओं को बयानबाजी पर प्रतिक्रिया जाहिर करने से रोक रखा है। उन्होंने कहा, ‘गठबंधन धर्म के कारण हम चुप हैं। यदि वे हमें नहीं चाहते तो हम नमस्कारम कह देंगे और अपनी राह पर निकल पड़ेंगे।’

केंद्र में भाजपा नीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) में तेदेपा भी साझीदार है। राज्य में भाजपा भी तेदेपा के साथ सत्ता में साझीदार है। राज्य के भाजपा नेता विभिन्न मुद्दों पर तेदेपा की आलोचना करने से बाज नहीं आ रहे हैं। हाल यह है कि कुछ भाजपा नेताओं ने संकेत दिया है कि वे लोग विपक्षी वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के साथ काम करने के लिए तैयार हैं। नायडू ने यह टिप्पणी ऐसे मौके पर दी है जब वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के प्रमुख वाईएस जगनमोहन रेड्डी ने बयान दिया है कि यदि आंध्र प्रदेश को विशेष दर्जा दिया गया तो वह भाजपा को समर्थन देंगे।

 
Loading...