इन हत्यारों ने ली उत्तर प्रदेश में ईस्ट-वेस्ट, सेंट्रल और बुंदेलखंड में सात लोगों की जान

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार कानून-व्यवस्था सुचारु होने का दावा कर रही है और बदमाश उसे धता बताकर वारदातों को अंजाम देते जा रहे हैं। यूपी की राजधानी में कई दिन से लगातार डकैती और लूट की वारदातों ने हिला रखा है। पुलिस इन मामलों में कुछ कदम आगे बढ़ाती कि आज यहां हत्या की दो वारदातें सामने आ गई। हालांकि प्रदेश के तमाम जिले हत्या से अछूते नहीं रहे। मेरठ, लखनऊ, जालौन, गोरखपुर, बुलंदशहर आदि में एक नहीं कई लोगों को जान से हाथ धोना पड़ा। महोबा में तो जिला अस्पताल सीएमएस आरपी मिश्रा को गोली मार दी गई। 

मेरठ में मां-बेटे को गोलियों से भूना 

मेरठ में बदमाशों ने दिनदहाड़े सौरखा गांव में मां-बेटे की गोलियों से भूनकर हत्या कर दी। गोली मारते तीन हमलावर घर लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गए। चुनावी रंजिश में अक्टूबर 2016 में परिवार के मुखिया की भी हत्या कर दी थी। मां-बेटे की इसी हत्या में 25 जनवरी को गवाही होनी थी। गांव सौरखा निवासी 28 वर्षीय बलमेंद्र उर्फ भोलू सुबह 11 बजे अपनी स्विफ्ट कार से मेरठ जा रहा था। अपने घर से 800 मीटर की दूरी पर पहुंचा तो बाइक पर आए बदमाशों ने भोलू की कार को रुकवाया और उस पर गोलियां बरसा दीं।

उसकी मौके पर ही मौत हो गई। इसके बाद आरोपी भोलू के घर पहुंचे। वहां बाहर चारपाई पर बैठी भोलू की 60 साल की मां निछत्तर कौर की गोली मारकर हत्या कर दी। इसके बाद गांव में दहशत फैलाने के लिए फायरिंग करते हुए फरार हो गए। मौके पर पहुंचीं एसएसपी मंजिल सैनी ने बताया कि गांव के ही तीन लोगों विनय उर्फ मांगे, गोलू उर्फ तरुण और एक अज्ञात के खिलाफ मृतक बलमेंद्र की पत्नी ने रिपोर्ट दर्ज कराई है। दशहत के चलते गांव में कोई कुछ बोलने को तैयार नहीं है। 

लखनऊ में पत्नी-बेटी की हत्या

लखनऊ में रात मूलरूप से काकोरी के दुर्गागंज निवासी परशुराम ने दूसरी पत्नी नूरी और दो माह की बेटी बिट्टू की गला रेतकर हत्या करने के बाद खुद जहरीला पदार्थ खाकर जान दे दिया। वह एक महिला बैंककर्मी की गाड़ी चलाता था और अस्पताल में नूरी और बिट्टू के साथ पिछले एक साल से रह रहा था। नूरी अस्पताल के मालिक के यहां खाना बनाने का काम करती थी। पुलिस ने कमरे से एक सुसाइड नोट भी बरामद किया है, जिसमें परशुराम ने पत्नी और उसकी बहनों पर परेशान करने का आरोप लगाया है।

अस्पताल के मालिक डॉ. राज अवस्थी के मुताबिक मंगलवार देर रात करीब ढाई बजे उनके स्टाफ ने फोन पर बताया कि परशुराम और उनकी पत्नी के बीच झगड़ा हो रहा है। उनके कमरे में काफी देर से शोरगुल हो रही थी और अब अचानक आवाज बंद हो गई है। डॉक्टर राज सर्वेंट क्वाटर के कमरा नंबर चार के बाहर पहुंचे और परशुराम तथा नूरी को आवाज लगाई। काफी देर बाद परशुराम लड़खड़ाते हुए कमरे से बाहर निकला और बोला कि नूरी ने उसे जहर दे दिया है। इसके बाद वह पास में पड़े तख्ते पर गिर पड़ा। 

रंगदारी न देने पर ठेकेदार को गोलियों से भूना

बुलंदशहर में रंगदारी न देने पर कार सवार हमलावरों ने नगरपालिका के ठेकेदार की गोलियों से भूनकर हत्या कर दी। उनकी लाइसेंसी रिवाल्वर भी लूटकर ले गए। कोतवाली क्षेत्र के गांव प्रानगढ़ निवासी जगबीर  नगर पालिका सिकंदराबाद में ठेकेदारी करते थे। आज सुबह करीब साढ़े 10 बजे वह बाइक से सिकंदराबाद जा रहे थे। गांव से बाहर निकलते ही पीछे से आई कार ने बाइक में टक्कर मारकर उन्हें गिरा दिया।

कार से उतरे चार-पांच हमलावरों ने उन पर अंधाधुंध गोलियां बरसानी शुरू कर दी। सात गोलियां लगने से ठेकेदार की मौके पर ही मौत हो गई। परिजनों ने बताया गया है कि दस दिन पहले ठेकेदार से फोन पर पांच लाख रुपये की रंगदारी मांगी गई थी। ठेकेदार ने 15 जनवरी को कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया था। परिजनों का आरोप है कि पुलिस ने मामले को गंभीरता से नहीं लिया और वारदात हो गई। एसएसपी मुनिराज जी का कहना है कि  रंगदारी मांगने समेत सभी बिंदुओं पर जांच की जा रही है। आरोपी जल्द गिरफ्तार होंगे। 

महोबा में सीएमएस को मारी गोली

महोबा में बदमाशों ने रात जिला अस्पताल के सीएमएस डा. आरपी मिश्रा को गोली मार दी, जिससे वह घायल हो गए। सीएमएस को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। हालांकि घटना के पीछे का कारण स्पष्ट नहीं हो सका है। आशंका है कि बदमाश लूट के इरादे से उनके घर में छिपे थे। सीएमएस की तहरीर पर पुलिस ने अज्ञात के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया है। जिला अस्पताल के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डा.आरपी मिश्रा मंगलवार रात जिला अस्पताल से ड्यूटी के बाद डाक बंगला मैदान गांधीनगर स्थित अपने आवास पहुंचे।

वहां तीन लोग छिपे थे। उन्होंने गेट खुलवाने के लिए पत्नी को फोन किया। उसी दौरान उन्होंने गेट के अंदर कुछ लोगों को देखकर शोर मचाया। वे बाहर की ओर भागे तभी गेट पर सीएमएस खड़े थे, तीनों ने उनसे हाथापाई शुरू कर दी। इसके बाद फायङ्क्षरग कर दी, एक गोली सीएमएस के पेट में लगी, जिससे वह लहूलुहान होकर गिर पड़े। यह देख तीनों भाग निकले। पत्नी व बेटे ने पड़ोसियों की मदद से उन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया। सीएमएस के आवास में सुरक्षा के मद्देनजर पुलिस बल तैनात किया गया है।

जालौन में अन्ना जानवरों के विवाद में युवक की हत्या

जालौन जिले के धमना और लमसर गांवों के लोगों के बीच अन्ना  जानवर खूनी संघर्ष का कारण बन गए। रात अन्ना जानवरों को हांकने के विवाद में गोलियां चल गईं और लमसर के युवक अनुपम (20) की जान चली गई। फायरिंग में घायल दो लोगों का इलाज चल रहा है। युवक के चाचा ने आठ लोगों पर हत्या का मुकदमा कराया है। बुधवार दोपहर बाद लमसर के लोगों ने जोल्हूपुर-हमीरपुर मार्ग पर जाम लगा दिया। चार घंटे जाम में यात्री बसें भी फंसी रहीं। ग्रामीण हत्यारों की गिरफ्तारी और अन्ना जानवरों से निजात की मांग कर रहे थे। तनाव को देखते हुए गांव में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।   

गोरखपुर में दोस्त की हत्या

गोरखपुर के उनवला खास निवासी भीम (20) की उसके ही गांव के करीबी दोस्त ने बुधवार को लाइसेंसी बंदूक से गोली मारकर हत्या कर दी। पुलिस ने आरोपी और उसके  पिता को गिरफ्तार कर लिया है। परिजनों ने भूमि विवाद में गोली मारने का आरोप लगाया है लेकिन पुलिस ने शुरुआती छानबीन के आधार पर युवती के साथ कमरे में देख लेने पर हमला करने की बात कही है। उनवला निवासी सुबेदार का पुत्र भीम पढ़ाई करता है। गांव के ही अमित से उसकी काफी गहरी दोस्ती थी। आमतौर पर दोनों एक साथ ही रहते थे। 

Loading...