बड़ीखबर : GST की नई दरें आज से हुईं लागू, काउंसिल की अगली बैठक 3 दिन बाद

नई दिल्ली । वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) काउंसिल की 25वीं बैठक में 49 वस्तुओं पर कर की दरें कम की गईं थी जिन्हें आज लागू कर दिया गया है। इसके साथ ही इस बैठक में 29 हैंडीक्राफ्ट वस्तुओं को जीरो टैक्स स्लैब में लाया गया था।

जीएसटी फाइलिंग की प्रक्रिया के सरल करने पर नहीं हुई थी चर्चा: काउंसिल की इस बैठक में जीएसटी फाइलिंग की प्रक्रिया को और सरल बनाने पर कोई फैसला नहीं किया गया था। इस पर चर्चा कराने के लिए जीएसटी काउंसिल 3 दिन बाद 26वीं बैठक करेगी। यह बैठक वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए होगी। इस बैठक में हैंडीक्राफ्ट आइटम्स पर जीएसटी को पूरी तरह से हटा दिया गया।

पेट्रोलियम को GST के दायरे में लाने पर कोई चर्चा नहीं: वहीं इस अहम बैठक में पेट्रोलियम पदार्थों को जीएसटी के दायरे में लाने पर कोई चर्चा नहीं हो पाई थी। आपको बता दें कि केंद्रीय वित्त मंत्री ने हाल ही में संकेत दिए थे कि पेट्रोलियम पदार्थों को जीएसटी के दायरे में लाया जा सकता है लेकिन इससे पहले राज्यों की पूरी सहमति ली जाएगी।

रियल एस्टेट सेक्टर पर भी नहीं हुआ था कोई फैसला नहीं: वहीं जीएसटी काउंसिल की इस बैठक में रियल एस्टेट सेक्टर पर कोई फैसला नहीं लिया गया था। इससे पहले कयास लगाए जा रहे थे कि इस बैठक में काउंसिल इस पर कोई अहम फैसला ले सकती है। आपको बता दें कि फिलहाल रियल एस्टेट सेक्टर जीएसटी के दायरे से बाहर है।

क्या कुछ हुआ सस्ता और महंगा: हीरे पर जीएसटी दर को 3 फीसद से घटाकर 0.25 फीसद, सिगरेट फिल्टर रॉड पर जीएसटी को 12 फीसद से बढ़ाकर 18 फीसद, बायो डीजल पर जीएसटी दर को 18 फीसद से घटाकर 12 फीसद और इस्तेमाल किए गए वाहनों (यूज्ड व्हीकल) पर जीएसटी दर को 28 फीसद से घटाकर 18 फीसद कर दिया गया है। खनन, पेट्रोलियम क्रूड की ड्रिलिंग सेवाएं पर अब 12 फीसद, प्राकृतिक गैस की ड्रिलिंग पर 12 फीसद, ड्रिप सिंचाई प्रणाली, मैकेनिकल स्प्रेयर पर 18 के बजाए 12 फीसद, मेंहदी कोन पर 18 के बजाए 5 फीसद और सुगर ब्वॉइल्ड कन्फेक्शनरी पर अब 18 के बजाए 12 फीसद का टैक्स लगेगा।

 
Loading...