नितिन गडकरी बोले 2019 तक पूरा हो जाएगा भारत-म्यांमार-थाईलैंड हाइवे

भारत से थाईलैंड तक सड़क मार्ग संपर्क स्थापित करने के लिए प्रस्तावित महत्वाकांक्षी भारत-म्यांमर-थाईलैंड त्रिपक्षीय अंतरराष्ट्रीय राजमार्ग को दिसंबर 2019 तक पूरा किए जाने की संभावना है. केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने मंगलवार को इस बात की जानकारी दी.नितिन गडकरी बोले 2019 तक पूरा हो जाएगा भारत-म्यांमार-थाईलैंड हाइवे

आपको बता दें कि आने वाली 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस कार्यक्रम में आसियान देश के प्रमुख शामिल हो रही हैं, ऐसे में आसियान देशों के साथ भारत के संबंध और भी प्रगढ़ हो रहे हैं.

उन्होंने कहा कि तीनों देश मिलकर करीब 1,400 किलोमीटर लंबे इस राजमार्ग पर काम कर रहे हैं. यह दक्षिण एशियाई देश थाईलैंड को सड़क मार्ग से भारत से जोड़ देगा जिससे तीनों देश के कारोबार, व्यापार, स्वास्थ्य, शिक्षा और पर्यटन क्षेत्र को वृद्धि मिलेगी. गडकरी ने यहां कहा कि इस राजमार्ग को अगले साल दिसंबर तक पूरा कर लिया जाएगा, हम इस पर सबसे अधिक प्राथमिकता के साथ काम कर रहे हैं.

हाईवे पर चलेगा तीनों देशों का ट्रैफिक

बता दें कि इससे पहले भी जानकारी सामने आई थी कि ‘सात दशक पहले दूसरे विश्व युद्ध के वक्त म्यांमार में 73 पुल बनाए गए थे, जिनकी अब भारत की फंडिग से मरम्मत की जा रही है. ये काम 18 महीने में पूरा कर लिया जाएगा. फिर हाईवे को तीनों देशों के ट्रैफिक के लिए खोल दिया जाएगा.

कहां तक जाएगा ये हाईवे

ये हाईवे भारत में पूर्वी इलाके के मोरेह से म्यांमार के तामू शहर जाएगा. इस 1400 किलोमीटर सड़क के इस्तेमाल के लिए त्रिपक्षीय मोटर वाहन समझौता पूरा करने पर बात चल रही है. ये हाईवे थाईलैंड के मेई सोत जिले के ताक तक जाएगी.

दवेई पोर्ट को भारत के चेन्नई पोर्ट और थाईलैंड के लेईंग चाबांग पोर्ट से जोड़ा जा सकता है. मौजूदा इंडो-एशिया फ्री ट्रेड एग्रीमेंट (FTA) के तहत भारत क्षेत्रीय व्यापक आर्थिक भागीदारी समझौते की तैयारी कर रहा है. इसमें कुल 10 देश शामिल होंगे.

Loading...