गतिरोध स्थल यथास्थिति में किसी बदलाव के बारे में बार-बार सवाल पूछे जाने पर सरकार ने कहा था कि इस तरह के कयासों का कोई आधार नहीं है. विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा था कि सरकार एक बार फिर से कहेगी कि गतिरोध स्थल पर यथास्थिति में बदलाव नहीं आया है. इसके विपरीत कोई बात सही नहीं है और वह शरारतपूर्ण है.