व्हीटग्रास के जूस का सेवन से होते है ये बड़े फायदे…

जब गेहूं के बीज को अच्छी उपजाऊ जमीन में बोया जाता है तो कुछ ही दिनों में वह अंकुरित होकर बढ़ने लगता है और उसमें पत्तियां निकलने लगती है। जब यह अंकुरण पांच-छह पत्तों का हो जाता है तो अंकुरित बीज का यह भाग गेहूं का ज्वारा कहलाता है। गेंहू के जवारे में क्लोरोफिल, विटामिन्स, कैल्शियम, मैग्नीशियम, आयोडीन, सेलेनियम, जिंक, लौह आदि तत्व अच्छी मात्रा में पाए जाते हैं। 

• गेहूं का ज्वारा के जूस का सेवन करने से शरीर से विषैले पदार्थ बाहर निकल जाते हैं जो शरीर के स्वस्थ रहने के लिए बहुत आवश्यक भी है। इसके सेवन से ना केवल रक्त में से विषैले पदार्थ बाहर निकलते है  बल्कि शरीर की हर कोशिका तक ऑक्सीजन की आपूर्ति भी बढ़ जाती है।

• रिसर्च से भी साबित हो गयी है कि व्हीटग्रास जूस में फाइबर की मात्रा बहुत अधिक पायी जाती है जो वजन को कम करने में सहायक होती है। अगर आप मोटापा कम करना चाहते है तो इसका सेवन जरूर करें। 

• गेहूं के ज्वारे के रस से कुल्ला करने से मुँह, दांतों और मसूड़ों के सारे बैक्टीरिया नष्ट हो जाते हैं। इसके अलावा गेहूं के ज्वारे के सेवन से मसूड़ों से खून आने की समस्या भी दूर हो जाती है और मुँह से आने वाली बदबू से निजात मिल जाने के कारण ताज़गी का अहसास होने लगता है।

•  कब्ज की समस्या से निजात पाने के लिए व्हीटग्रास जूस का सेवन करिये क्योंकि इसमें फाइबर की प्रचुरता पायी जाती है जो मेटाबॉलिक क्रियाओं को उत्तेजित करके मल त्याग की प्रक्रिया को आसान बना देता है।

Loading...