बड़ीखबर: वीएचपी नेता प्रवीण तोगड़िया पर लगे आरोप को क्राइम ब्रांच ने किया खारिज

अरेस्ट वॉरंट सामने आने के बाद वीएचपी नेता प्रवीण तोगड़िया सोमवार को 11 घंटे तक गायब रहे थे. इसके बाद बेहोशी की हालत में मिले तोगड़िया ने मंगलवार को केंद्र सरकार पर हमला बोला. उन्होंने कहा था कि उनके एनकाउंटर की साजिश हो रही है. वहीं क्राइम ब्रांच का कहना है कि गायब रहने के बाद तोगड़िया अपने साथी धनश्याम के साथ कोतरपुर पहुंचे थे. धनश्याम के ड्राईवर ने ही 108 एंबुलेंस को फोन किया था.

आपको बता दें कि वीएचपी नेता प्रवीण तोगड़िया ने भावुक होते हुए मीडिया के सामने बयान दिया था कि उनके खिलाफ राजनीतिक षडयंत्र किया जा रहा है. उनका एन्काउन्टर करने कि साजि‍श की जा रही है. हालांकि प्रेस वार्ता के घंटों के बाद  अहमदाबाद क्राइम ब्रान्च के जॉइंट पुलिस कमिश्नर जेके भट्ट ने बड़ा बयान दिया है.

जेके भट्ट के कहा कि जिस वक्त 108 एंबुलेंस से तोगड़िया को कोतरपुर से लिया गया था. तब तोगड़िया बात कर रहे थे, यही नहीं उनका बीपी और शुगर लेवल दोनों ही सामान्य था.

जेके भट्ट ने प्रवीण तोगड़िया एयरपोर्ट जाते वक्त बेहोश होने की बात को लेकर कहा कि  तोगड़िया वीएचपी दफ्तर से अकेले रिक्शा में नहीं गये, उनके साथ वीएचपी दफ्तर में ही रहने वाले धीरुभाई कपुरिया थे. उनके दूसरे साथी धनश्याम के थलतेज स्थित धर पहुंचे थे. हालांकि‍ धीरुभाई दोपहर 2 बजे वहां से निकल गये थे. इसके बाद तोगड़िया ओर धीरुभाई दोनों का फोन स्वीच ऑफ था. बरामद सीसीटीवी फुटेज के अनुसार तोगड़िया ओर धीरुभाई शाम को करीब 7.30 बजे धनश्याम की गाड़ी में उनके ड्राइवर के साथ कोतरपुर इलाके में पहुंचे थे. धनश्याम के ड्राइवर ने ही 108 एंबुलेंस को फोन किया था. इसके टेकनिकल सबूत और बयान क्राइम ब्रान्च के पास है.

108 एंबुलेंस को फोन करने के बाद ड्राईवर वहां से निकल गया था. एंबुलेंस को खास तौर पर कहा गया था कि उन्हें शाहीबाग की चन्द्रमनी अस्पताल में ही लेकर जाया जाए. हालांकि क्राइम ब्रान्च के जेसीपी जेके भट्ट ने ये भी कहा कि तोगड़िया के चन्द्रमनी अस्पताल पहुंचने से पहले ही शाम को 6 बजे चन्द्रमनी अस्पताल के डॉ अग्रवाल को ये जानकारी दी गई थी कि तोगड़िया को अस्पताल में लाने वाले हैं. क्राइम ब्रान्च इस पूरे मामले में जांच कर रही है. क्राइम ब्रान्च अब इस मामले में प्रवीण तोगड़िया का बयान दर्ज करेगी, लेकिन उनके अनुसार प्रविन तोगड़िया का किसी भी तरह का कोई अपहरण नहीं हुआ है. जरुरत पड़ने पर प्रविन तोगड़िया के खिलाफ इस मामले में कार्रवाई भी की जा सकती है.

Loading...