Monday , February 17 2020

अय्याशी के लिए शराब पिलाई और इसके बाद दोस्त की हत्या कर जलाया शव…

अंबाला छावनी के बोह गांव में रहने वाले स्वर्णजीत को दोस्तों ने पहले शराब पिलाई और फिर हाथ पांव पकड़ गला दबाकर हत्या कर दी। मृतक की शिनाख्त न हो इसके लिए स्वर्णजीत सिंह का शव कार में ले जाकर मानकपुर रोड चंडीगढ़-अंबाला हाईवे पर फेंक दिया और पेट्रोल छिड़ककर कर आग लगा दी। मृतक की गाड़ी टाटा जस्ट मेरठ जाकर महज 22 हजार रुपये में बेच दी। नशा और अय्याशी के लिए स्वर्णजीत की हत्या की गई।

अंबाला पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए तीन आरोपितों जनरैल सिंह, सरबजीत और मनीष उर्फ गोलू से पूछताछ में यह कबूल किया है। मृतक का फोन मनीष उर्फ गोलू के पास मिला। जिसके आधार पर पुलिस आरोपितों तक पहुंची। आरोपितों से पूछताछ जारी है, जिनको शुक्रवार को अदालत में पेश कर पुलिस रिमांड लिया जाएगा। इस ब्लाइंड हत्याकांड की गुत्थी सुलझाने के लिए एसपी अभिषेक जोरवाल ने जांच टीम का गठन किया था।

पुलिस ने किया था लापता होने का केस दर्ज

थाना महेश नगर पुलिस ने 31 जनवरी 2020 को स्वर्णजीत सिंह के लापता होने पर केस दर्ज किया था। शिकायत में दलीप सिंह निवासी गांव बोह ने बताया था कि उसका बड़ा लड़का स्वर्ण जीत सिंह खुद की टाटा जस्ट गाड़ी चलाता है। वह शादीशुदा है और दो बच्चे हैं। उन्होंने बताया कि 27 जनवरी 2020 को स्वर्णजीत सिंह दोपहर के समय साढ़े बारह बजे घर से चला गया। जाते वक्त वह अपनी गाड़ी भी लेकर गया था। इसके बाद स्वर्णजीत अपने घर नहीं लौटा। उसे अपने स्तर पर तलाशते रहे, लेकिन उसका कुछ पता नहीं चला। महेश नगर पुलिस ने गुमशुदगी का मामला दर्ज कर तफ्तीश शुरू कर दी थी।

कुत्तों ने नोचा शव, पुलिस ने की इत्तेफाक हादसे की कार्रवाई

मानकपुर रोड चंडीगढ़-अंबाला हाईवे पर 31 जनवरी 2020 को क्षत विक्षत हालत में शव बरामद हुआ। अंबाला शहर सदर थाना पुलिस ने इस मामले में जांच की। मृतक के शव पर चोट या घाव के निशान नहीं थे, क्योंकि उसकी हत्या गला घोंटकर की गई थी। शहर की सदर पुलिस ने इत्तेफाक हादसे की कार्रवाई कर दी थी। इसी बीच जांच में सदर थाना पुलिस को पता चला कि अंबाला छावनी की महेश नगर पुलिस ने गुमशुदगी का मामला दर्ज कर रखा है। इस आधार पर जब स्वर्णजीत सिंह के परिजनों से बात की तो कपड़ों के आधार पर उन्होंने शिनाख्त की। हालांकि शव की पहचान नहीं हो पा रही थी, लेकिन कपड़ों के आधा पर पहचान हुई।

दोस्तों से मिला मोबाइल तो बोले, गिरवी रखा था

अंबाला छावनी के तेली मंडी में रहने वाले गोलू से पुलिस को मृतक स्वर्णजीत सिंह का मोबाइल मिला। साइबर सेल के माध्यम से पुलिस मृतक के मोबाइल और फिर गोलू तक पहुंच गई। मनीष उर्फ गोलू ने पूछताछ में पुलिस को बताया कि यह मोबाइल स्वर्णजीत ने चार हजार रुपये में उसके पास गिरवी रखा था। उसने यह भी बोला था कि तीन हजार रुपये की किस्त देनी है, उसे रुपयों की जरूरत है। उसने चार हजार रुपये लेकर मोबाइल गिरवी रख दिया था। इसके अलावा उसे कुछ पता नहीं है। इसी आधार पर पुलिस को शक हुआ और जरनैल और सरबजीत तक भी पहुंच गई। गत दिवस पुलिस ने तीनों आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया।

आरोपितों ने योजनाबद्ध तरीके से हत्या कर शव को जला दिया

सीआइए वन अंबाला के इंचार्ज केवल सिंह का कहना है कि जरनैल सिंह व कुरुक्षेत्र के शाहाबाद निवासी सरबजीत तथा मनीष उर्फ गोलू निवासी तेली मंडी अंबाला छावनी को स्वर्णजीत सिंह हत्याकांड में गिरफ्तार कर लिया गया है। आरोपितों ने योजनाबद्ध तरीके से हत्या कर शव को जला दिया था। आरोपितों से मृतक की गाड़ी बरामद करनी है। आरोपितों को शुक्रवार को अदालत में पेश कर रिमांड की मांग की जाएगी।

Loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com