Sunday , November 29 2020

प्रद्युम्न की हत्या का आरोपी छात्र ने दिया ये बड़ा बयान, खोले राज़ और कहा- मुझे जो करना था, कर दिया

गुरुग्राम| बहुचर्चित रेयान केस में सात साल के प्रद्युम्न मर्डर केस में एक के बाद एक नए खुलासे हो रहे हैं. जहां पहले बस कंडक्टर को हत्या का आरोपी बताया गया था वहीं अब सीबीआई जांच में सामने आया कि प्रद्युम्न की हत्या स्कूल के ही 11वीं में पढ़ने वाले एक छात्र ने की है. सीबीआई ने इस पूरे मामले में मुख्य संदिग्ध 11वीं में पढ़ने वाले 16 साल के एक लड़के को माना है. बताया जा रहा है कि आरोपी छात्र ने परीक्षा और पेरेंट-टीचर-मीटिंग (पीटीएम) ना हो इसके लिए प्रद्युम्न की हत्या की. सीबीआई के एक वरिष्ठ अधिकारी का कहना है कि आरोपी छात्र ने सिर्फ एग्जाम और पीटीएम रोकने के लिए हत्या की क्योंकि उसको ये था कि अगर कुछ बड़ा होता है, तो स्कूल बंद करने पड़ेंगे.प्रद्युम्न की हत्या का आरोपी छात्र ने दिया ये बड़ा बयान, खोले राज़ और कहा- मुझे जो करना था, कर दिया

आरोपी छात्र के दोस्तों-पड़ोसियों ने कहा- बदमाश लड़का है

प्रद्युम्न की हत्या के मामले में पकड़े गए 11वीं के छात्र के बारे में उसके दोस्तों का कहना है कि वो उद्दंड है और स्कूल में भी अशिष्ट व्यवहार करता था. उसकी कक्षा के एक छात्र ने कहा कि वह अपनी उम्र के आम लड़कों से अधिक भारी है और छोटे-छोटे मुद्दों को लेकर अन्य छात्रों पर हाथ उठाने को तैयार रहता था. एक दूसरे दोस्त ने दावा किया कि वह पढ़ाई और खेल में बहुत अच्छा नहीं था. हालांकि उसके व्यवहार को लेकर उसके परिवार से संपर्क नहीं किया जा सका.

पत्रकार से भी पड़ोसियों ने की लड़के की शिकायत

एक संवाददाता जब उसके घर गया तो पड़ोसियों ने भी उसके आचरण को लेकर शिकायत की.

पॉर्न देखने का था आदी

सीबीआई का कहना है कि सीसीटीवी फुटेज में आरोपी चाकू ले जाते दिखाई दिया है. उसने टॉयलेट में जाकर मोबाइल पर पॉर्न फिल्म देखी. उसी समय उसकी नजर प्रद्युम्न ठाकुर पर पड़ी. उसने चाकू निकाला और प्रद्युम्न का गला काटकर उसकी हत्या कर दी. इस दौरान प्रद्युम्न का यौन शोषण नहीं हुआ था.

सीबीआई जांच में सामने आया कि जिस चाकू को बस कंडक्टर अशोक द्वारा प्रद्युम्न को मारने के लिए प्रयोग करने कि लिए बताया जा रहा था वह चाकू प्रद्युम्न के मर्डर में इस्तेमाल ही नहीं हुआ है. जिसने हरियाणा पुलिस की बस से चाकू लाने की थ्योरी को नकार दिया. अब सीबीआई ने इस मामले में बस कंडक्टर को क्लीन चिट दी है, जबकि इसी कंडक्टर अशोक को हरियाणा पुलिस ने प्रद्युम्न के मर्डर के असली आरोपी के तौर पर अशोक को पेश किया था.

सीबीआई का कहना है कि उसे न तो अशोक के खिलाफ कोई सबूत मिला और न ही प्रद्युम्न के साथ यौन शोषण होने के कोई सुराग मिला. आरोपी छात्र ने सीबीआई से कहा कि आठ सितंबर की सुबह वह चाकू लिए अपने शिकार के लिए टॉयलेट के पास इंतजार कर रहा था. वो प्रद्युम्न को ठीक से नहीं जानता था और उसने बिना कुछ सोचे समझे ही उसे निशाना बनाया.

Loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com