व्यापम घोटाले में आरोपी डॉक्‍टर को CBI ने किया गिरफ्तार, ऐसे दिया था काम को अंजाम…

मध्य प्रदेश के चर्चित व्यापम घोटाले में वांछित चल रहे रायबरेली में तैनात डॉक्टर वीरेंद्र कुमार को सीबीआई की टीम ने गुरुवार को हैदरगढ़ तहसील के एक सरकारी आवास से गिरफ्तार किया।

सीबीआई टीम के उपनिरीक्षक मुनिंदर कुमार पांडेय ने आरोपी डॉक्टर को बाराबंकी जिला न्यायालय के अपर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट कोर्ट संख्या 17 संतोष कुमार की कोर्ट में प्रार्थना पत्र देकर ट्रांजिट रिमांड की मांग की।

अदालत ने दो दिन का ट्रॉजिंट रिमांड देकर शनिवार की शाम पांच बजे तक अपर सत्र न्यायाधीश भोपाल की अदालत में पेश करने का आदेश दिया। 

मालूम हो कि गिरफ्तार आरोपी डॉ. वीरेंद्र कुमार मौर्या की पत्नी हैदरगढ़ तहसील में नायब तहसीलदार के पद पर तैनात है। और डॉक्टर रायबरेली जिले के गुरुबक्श गंज सीएचसी में कार्यरत हैं। 

डॉ. वीरेंद्र अपनी पत्नी के तहसील स्थित सरकारी आवास पर रुका था। वहीं से उन्हें सीबीआई की टीम ने गिरफ्तार कर ट्रांजिट रिमांड के लिए कोर्ट में पेश किया। जहां से उसे दो दिन के ट्रांजिट रिमांड मिलने के बाद सीबीआई टीम भोपाल के लिए रवाना हो गई।

अदालत में दी गई जानकारी में वीरेंद्र कुमार पुत्र एचपी मौर्या पर धोखाधड़ी समेत कई अपराधों में वंछित था। जिसकी गिरफ्तारी का वारंट अपर सत्र न्यायाधीश भोपाल द्वारा जारी किया गया है।

Loading...