Wednesday , March 3 2021

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ भारत की खराब शुरुआत, 28 पर 3 विकेट गिरे

केपटाउन। भारत ने दक्षिण अफ्रीका के 286 रन के जवाब में पहले टेस्ट क्रिकेट मैच के शुरूआती दिन अपनी पहली पारी में तीन विकेट पर 28 रन बनाये। स्टंप उखड़ने के समय चेतेश्वर पुजारा पांच रन पर खेल रहे थे जबकि रोहित शर्मा को अभी खाता खोलना है।

दिन का पहला सत्र भुवनेश्वर तथा डिविलियर्स और डुप्लेसिस के नाम रहा। भुवनेश्वर ने अपने पहले तीन ओवरों में ही तीन विकेट निकालकर भारत को बेहतरीन शुरूआत दिलायी। उन्होंने मैच की तीसरी गेंद पर ही डीन एल्गर (शून्य) को विकेट के पीछे कैच कराया और अगले ओवर में एडेन मार्कराम (पांच) को अपनी तीखी इनस्विंगर पर पगबाधा आउट किया। भरोसेमंद हाशिम अमला (तीन) के पास भी भुवनेश्वर की गेंदों का कोई जवाब नहीं था। उन्होंने विकेट के पीछे कैच दिया। भुवनेश्वर का गेंदबाजी विश्लेषण तब तीन ओवर पांच रन तीन विकेट था। डिविलियर्स ने इसके बाद अपने कप्तान के साथ मिलकर दक्षिण अफ्रीका को वापसी दिलाने का बीड़ा उठाया। डिविलियर्स ने जवाबी हमले की रणनीति अपनायी और भुवनेश्वर के एक ओवर में चार चौकों की मदद से 17 रन बटोरे। इन दोनों ने पहले सत्र में अपनी टीम को चौथा झटका नहीं लगने दिया।
 
अपना पहला टेस्ट मैच खेल रहे जसप्रीत बुमराह (73 रन देकर एक विकेट) और युवा आलराउंडर हार्दिक पंड्या (53 रन देकर एक विकेट) ने डिविलियर्स और डुप्लेसिस की खतरनाक जोड़ी को पवेलियन भेजकर भारत को बड़ी राहत दिलायी। बुमराह ने डिविलियर्स को आउट करके अपना पहला टेस्ट विकेट लिया। उनकी कोण लेती गेंद इस पूर्व कप्तान के बल्ले का अंदरूनी किनारा लेकर आफ स्टंप हिला गयी। इसके तीन ओवर बाद पंड्या ने डुप्लेसिस को विकेट के पीछे कैच कराया। इससे पहली वाली गेंद पर पंड्या ने दक्षिण अफ्रीकी कप्तान को पगबाधा कर दिया था लेकिन डीआरएस में फैसला बदल दिया गया। इस बीच डुप्लेसिस ने अपना 16वां टेस्ट अर्धशतक पूरा किया। आउट होने से पहले डिविलियर्स ने प्रवाहमय बल्लेबाजी की और अपनी 84 गेंद की पारी में 11 चौके जमाये जबकि डुप्लेसिस ने सकारात्मक अंदाज में बल्लेबाजी की। उन्होंने 104 गेंदें खेली तथा 12 चौके लगाये।
 
डिकाक और फिलैंडर (23) ने आक्रामक अंदाज बनाये रखा और छठे विकेट के लिये 54 गेंदों पर 60 रन जोड़े। इससे दक्षिण अफ्रीका 45वें ओवर में 200 रन के पार पहुंचा। भुवनेश्वर अपने तीसरे स्पैल के लिये आये और उन्होंने तुरंत ही खतरनाक दिख रहे डिकाक को विकेट के पीछे कैच करा दिया जबकि मोहम्मद शमी (47 रन देकर एक विकेट) ने रिवर्स स्विंग पर फिलैंडर की दोनों गिल्लयां उड़ायी।
 
भारत को जल्द ही एक और विकेट मिल जाता लेकिन धवन ने तीसरी स्लिप में केशव महाराज का कैच छोड़ दिया। यह भुवनेश्वर का पांचवां विकेट होता। महाराज आखिर में अपनी ढिलायी के कारण रविचंद्रन अश्विन के सटीक थ्रो पर रन आउट हुए। अश्विन (21 रन देकर दो विकेट) ने ही इसके बाद रबादा को विकेटकीपर के हाथों कैच कराया और फिर मोर्कल (दो) को पगबाधा आउट किया। स्टेन 16 रन बनाकर नाबाद रहे।
Loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com