Monday , November 30 2020

26 कट्स के साथ रिलीज हो सकती है ‘पद्मावती’

फिल्म डायरेक्टर संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘पद्मावती’ की रिलीज का रास्ता साफ हो सकता है। मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो सेंसर बोर्ड ने फिल्म को 26 कट्स के साथ रिलीज किए जाने की मंजूरी दे दी है। साथ ही सेंसर बोर्ड ने फिल्म का नाम बदलकर ‘पद्मावत’ करने को कहा है। इसके अलावा घूमर गाने में भी बदलाव किए जाने को कहा गया है। इसे लेकर सेंसर बोर्ड द्वारा गठित किए गए एक विशेष पैनल के सुझावों पर ऐसा किए जाने की बात कही जा रही है। 26 कट्स के साथ रिलीज हो सकती है 'पद्मावती'

 बदलाव के बाद U/A सर्टिफिकेट 
जानकारी के मुताबिक, अगर ये बदलाव फिल्म में किए जाते हैं तो उसे U/A सर्टिफिकेट दिया जा सकता है। इसका अर्थ है कि इस फिल्म को 12 साल से कम उम्र के बच्चे माता-पिता के निर्देशन में देख सकते हैं। यह भी कहा गया है कि फिल्म के पहले एक डिस्क्लेमर भी देना होगा। यानी फिल्म की कहानी को काल्पनिक बताया जाएगा। हालांकि, अभी तक फिल्म के डायरेक्टर संजय लीला भंसाली या निर्माता कंपनी की ओर से पर कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है, लेकिन माना जा रहा है कि इन शर्तों को मान लिया जाएगा। 

सेंट्रल बोर्ड ऑफ फिल्म सर्टिफिकेशन ने 28 दिसंबर को फिल्म को लेकर बैठक की थी। आखिरी फैसले तक पहुंचने के लिए CBFC ने एक विशेष पैनल की जरूरत महसूस की थी। इस विशेष पैनल में उदयपुर के अरविंद सिंह, जयपुर यूनिवर्सिटी के डॉक्टर चंद्रमणि सिंह और प्रफेसर के.के. सिंह शामिल थे। 

करणी सेना के अजित सिंह ने इस कार्रवाई के बाद हमारे सहयोगी टीवी चैनल ‘TIMES NOW’ से कहा कि करणी सेना किसी कीमत पर इस फिल्म को रिलीज नहीं होने देगी। फिल्म की कहानी राजपूत रानी पद्मावती को लेकर तथ्यों से कथित छेड़छाड़ को लेकर विवादों में घिरी है। हालांकि, भंसाली इस बात से कई बार इनकार कर चुके हैं। 

क्यों विवादों से घिरी है फिल्म? 
कुछ संगठनों का आरोप है कि फिल्म में अलाउद्दीन खिलजी का महिमामंडन किया गया है। इसके साथ ही खिलजी और रानी पद्मावती के बीच ड्रीम सीक्वेंस फिल्माया गया है। इसके अलावा घूमर डांस में भी राजपूत समाज की गलत प्रस्तुति हुई। कहा जा रहा कि पुरुषों के सामने रानियां डांस नहीं करती थीं। ऐसे में सवाल यह भी उठ रहा है कि घूमर घाने में क्या बदलाव किया जाएगा। क्या फिल्म निर्माता इस पूरे गाने को ही हटा देंगे या कोई दूसरा विकल्प खोजेंगे

Loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com