Saturday , February 27 2021

यूपीः DGP को फिर मिलेगा सेवा विस्तार या इस बार नए दावेदार

उत्तर प्रदेश के पुलिस महकमे में 31 दिसंबर की तारीख पास आते ही पुलिस मुखिया यानी डीजीपी की कुर्सी को लेकर अटकलों का दौर तेज हो गया है। महकमे में चर्चाएं तेज हैं कि सरकार डीजीपी सुलखान सिंह को ही एक और सेवा विस्तार देने की तैयारी में है। वहीं कुछ लोग इस बात का दावा कर रहे हैं कि सुलखान सिंह को सरकार दूसरी बड़ी जिम्मेदारी सौंपकर डीजीपी की कुर्सी पर नया दावेदार लाएगी।

 बताते चलें कि 30 सितंबर को डीजीपी सुलखान सिंह  के रिटायरमेंट से पहले सरकार ने उन्हें छह माह का सेवा विस्तार देने का प्रस्ताव केंद्र को भेजा था। डीजीपी सुलखान सिंह की विदाई परेड होने के बाद उनके तीन माह का सेवा विस्तार होने का आदेश आया। 

अब 31 दिसंबर को यह सेवा विस्तार खत्म होने जा रहा है। चर्चा है कि उनके छह माह के सेवा विस्तार से जुड़ा जो प्रस्ताव केंद्र  को पहले भेजा गया था उसके आधार पर ही उन्हें तीन माह का एक और सेवा विस्तार मिल जाएगा। 

राज्य निर्वाचन आयुक्त बनाने की चर्चा 
वहीं यह भी चर्चा है कि प्रदेश सरकार डीजीपी सुलखान सिंह को 31 दिसंबर को रिटायरमेंट के बाद राज्य निर्वाचन आयुक्त बनाने की तैयारी में है। क्योंकि सपा सरकार के कार्यकाल में राज्य निर्वाचन आयुक्त बनाए गए एसके अग्रवाल का कार्यकाल खत्म हो चुका है। हालांकि चर्चा है कि आईएएस  अधिकारी, सुलखान सिंह को राज्य निर्वाचन आयुक्त बनाए जाने के पक्ष में नहीं है। 

फिर सेवा विस्तार या इस बार नए दावेदार 
अगर सरकार सुलखान सिंह को सेवा विस्तार  नहीं देती है तो उनके बाद सबसे वरिष्ठ अधिकारी वर्ष 1982 बैच के डीजी फायर सर्विस प्रवीण सिंह हैं। उनका जून 2018 में रिटायरमेंट है। अगर वह डीजीपी बनते हैं तो उन्हें छह माह का कार्यकाल मिलेगा। प्रवीण सिंह के बाद उनके ही बैचमेट डीजी होमगार्ड डॉ सूर्य कुमार का नंबर आता है। पिछले दो साल से उनका नाम डीजीपी की रेस में लगातार चर्चा में बना हुआ है। सरकार पर जाति विशेष के अधिकारियों को अहम तैनातियां देने के आरोप न लगें इसके लिए सरकार डीजी विजिलेंस हितेश चंद्र अवस्थी और केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर डीजी एसएसबी के पद पर तैनात रजनीकांत मिश्रा के नाम पर भी विचार कर सकती है। 

डीजी इंटेलिजेंस के पद पर तैनात वर्ष 1987 बैच के आईपीएस भवेश कुमार सिंह का नाम भी डीजीपी की कुर्सी के मजबूत दावेदारों में से एक है। डीजी ट्रेनिंग के पद पर तैनात गोपाल गुप्ता और डीजी ईओडब्ल्यू आलोक प्रसाद भी कुर्सी के दावेदार हैं। 

Loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com