Saturday , February 27 2021

मेट्रो उद्घाटन: केजरीवाल को नहीं मिला न्योता, भड़की आप

कालकाजी मंदिर से नोएडा के बॉटनिकल गार्डन स्टेशन के बीच चलने वाली मेट्रो को सोमवार को हरी झंडी दिखाई जानी है। बॉटनिकल गार्डन स्टेशन पर होने वाले ओपनिंग प्रोग्राम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और केंद्रीय शहरी विकास राज्यमंत्री हरदीप सिंह पुरी रहेंगे, लेकिन दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल या उनके किसी मंत्री को बुलावा नहीं आया है। इस पर आम आदमी पार्टी (AAP) ने कड़ा ऐतराज जताया है।

 करीब 12 किलोमीटर की दूरी वाली इस लाइन की ओपनिंग को लेकर शुरू हुए विवाद पर AAP के वरिष्ठ नेता संजय सिंह ने कहा कि राजनीतिक विरोध की वजह से बीजेपी के लोगों के अंदर अब इतनी नफरत भर चुकी है कि वे चुने हुए मुख्यमंत्री के साथ बैठना भी पसंद नहीं कर रहे। उन्होंने याद दिलाया कि इससे पहले जब बदरपुर और फरीदाबाद के बीच बनाए गए नए मेट्रो सेक्शन का उद्घाटन हुआ था, तब भी केजरीवाल को नहीं बुलाया गया था। 
पार्टी प्रवक्ता और विधायक सौरभ भारद्वाज ने कहा कि दिल्ली मेट्रो के फेज-3 के प्रॉजक्ट की कुल लागत 46 हजार करोड़ रुपये है, जिसमें से केंद्र सरकार का हिस्सा महज 10 फीसदी है। बाकी पैसा या तो दिल्ली सरकार ने या फिर जापान की एजेंसी जाइका ने दिया है। हम मोदी जी से यही कहना चाहते हैं कि वह हमारा आधा पैसा लौटा दें और फिर चाहें तो हर मेट्रो के अंदर-बाहर अपना फोटो लगा दें। जिन प्रॉजक्ट्स में केंद्र सरकार 85 प्रतिशत और राज्य सरकारें 15 प्रतिशत पैसा लगाती हैं, उनके उद्घाटन में भी उस राज्य के मुख्यमंत्री को बुलाया जाता है। 

एक अधिकारी का तो यह तक कहना था कि डीएमआरसी के मैनेजिंग डायरेक्टर मंगू सिंह और कुछ अफसरों को छोड़कर इस सेक्शन के निर्माण में अहम भूमिका निभाने वाले कई इंजिनियरों और अफसरों को भी न्योता नहीं मिला है। कहा जा रहा है कि अगर केंद्रीय शहरी विकास मंत्रालय चाहता तो डीएमआरसी और दिल्ली सरकार के सहयोग से एक कार्यक्रम दिल्ली में भी कर सकता था। बॉटनिकल गार्डन से दिल्ली आने वाली ट्रेन को पीएम और यूपी के सीएम हरी झंडी दिखाता तो कालकाजी से दिल्ली के सीएम हरी झंडी दिखाकर ट्रेन को नोएडा की तरफ भेज देते। ऐसा करके संतुलन बनाया जा सकता था। 

यूपी सरकार का है प्रोग्राम : मेट्रो 
इस बारे में दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (डीएमआरसी) के सूत्रों का कहना है कि दरअसल पूरा प्रोग्राम यूपी सरकार और नोएडा अथॉरिटी मिलकर कर रहे हैं और न्योता भी उन्हीं की तरफ से दिया गया है। केंद्रीय शहरी विकास मंत्रालय के सूत्रों का कहना है कि मेट्रो का उद्घाटन जहां होता है, वहां की राज्य सरकार ही पूरा कार्यक्रम करती है और वही न्योता भेजती है। फरीदाबाद मेट्रो के उद्घाटन के समय भी यही हुआ था। ऐसे में इसका कोई राजनीतिक मतलब निकाला जाना ठीक नहीं है। 

Loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com