Wednesday , June 29 2022

इलाहाबाद HC में ज्ञानवापी मामले की सुनवाई छह जुलाई तक स्थगित

प्रयागराज, इलाहाबाद हाई कोर्ट में ज्ञानवापी मामले की सुनवाई छह जुलाई तक टल गई है। शुक्रवार को इस मामले में सुनवाई थी। अंजुमन इंतजामिया मसाजिद कमेटी व सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड की तरफ से वाराणसी की अधीनस्थ अदालत के आदेश को इलाहाबाद हाई कोर्ट में चुनौती दी गई थी। याचिकाओं की सुनवाई न्यायमूर्ति प्रकाश पाडिया कर रहे हैं। अदालत ने सुनवाई ग्रीष्मावकाश के बाद छह जुलाई तक के लिए टाल दी है।

अगली सुनवाई पर बहस होगी : ज्ञानवापी विवाद से जुड़े मामले में इलाहाबाद हाईकोर्ट में सुनवाई हुई। जस्टिस प्रकाश पाडिया की सिंगल बेंच में सुनवाई हुई। 6 जुलाई को होगी मामले की अगली सुनवाई। सबसे पहले हिंदू पक्ष अपनी बची हुई बहस पूरी की। स्वयंभू भगवान विश्वेश्वर पक्षकार की तरफ से उनके वाद मित्र विजय शंकर रस्तोगी ने की बहस। हिंदू पक्ष की बहस पूरी होने के बाद यूपी सुन्नी सेन्ट्रल वक्फ बोर्ड के अधिवक्ता पुनीत गुप्ता ने बहस की। अगली सुनवाई पर मुस्लिम पक्षकार बहस जारी रखेंगे। वाराणसी की अदालत में 31 वर्ष पहले 1991 में दाखिल मुकदमे की सुनवाई हो सकती है या नहीं, हाईकोर्ट का मुख्य रूप से यही तय करना है। एएसआइ से खुदाई कराकर सर्वेक्षण कराए जाने समेत कई अन्य मुद्दों पर भी बहस होनी है।

पिछली सुनवाई में बहस पूरी नहीं हो सकी थी : पिछली सुनवाई यानी 16 मई को इलाहाबाद हाई कोर्ट में वाराणसी के 1991 के ज्ञानवापी केस में हिंदू पक्ष ने इलाहाबाद हाईकोर्ट में अपनी दलील रखी। इस दौरान स्वयंभू भगवान विशेश्वर यानी हिंदू पक्ष ने सर्वे के दौरान बड़े आकार के शिवलिंग के मिलने का दावा किया था। इलाहाबाद हाई कोर्ट में ज्ञानवापी मंदिर मस्जिद विवाद को लेकर दाखिल याचिका पर मंदिर पक्ष के अधिवक्ता विजय शंकर रस्तोगी की बहस पूरी नहीं हो सकी थी। इसके बाद अगली सुनवाई आज थी। इलाहाबाद हाई कोर्ट में वाराणसी के काशी विश्वनाथ मंदिर-ज्ञानवापी मस्जिद विवाद पर सुनवाई न्यायमूर्ति प्रकाश पाडिया की सिंगल बेंच में की जा रही है।

Loading...