Monday , November 30 2020

नॉर्थ कोरिया के 9 बेतुके कानून, दंग रह जाएंगे

अपने परमाणु परीक्षणों को लेकर उत्तरी कोरिया चर्चे में है। अमेरिका की धमकी के बावजूद उत्तरी कोरिया ताबड़तोड़ परीक्षण किए जा रहा है। आज आपको वहां के कुछ बेतुके कानून के बारे में बताने जा रहे हैं जिससे आप अंदाजा लगा सकते हैं कि वहां रहने वाले लोगों का जीवन कैसे नरक बन जाता है…

वहां विदेशी और प्रवासियों को लेकर सख्त कानून है। विदेशी को किसी भी पल हिरासत में लिया जा सकता है।
उत्तरी कोरिया में बाइबिल को पश्चिमी संस्कृति का प्रतीक माना जाता है और इसलिए वहां इसको रखने की अनुमति नहीं है। ऐसा मानना है कि लोग इससे प्रभावित होकर धर्म परिवर्तन कर सकते हैं। एक बार एक महिला को बाइबिल बांटने के जुर्म में गिरफ्तार किया गया था और फांसी दी गई थी।
वहां सरकार ने 28 हेयर स्टाइल को मंजूरी दे रखी है। इसके अलावा कोई और कट रखने की अनुमति नहीं है।
अगर कोई व्यक्ति कानून तोड़ता है तो इसके बच्चे और माता-पिता को भी सजा दी जाती है।
नॉर्थ कोरिया ज्युशे कैलेंडर का इस्तेमाल करता है। इस कैलेंडर का पहला साल 1912 था, जब किम II-सुंग का जन्म हुआ था। वहां के कैलेंडर के हिसाब से अभी साल 106 चल रहा है।
उत्तरी कोरिया में 3 टीवी स्टेशन हैं और तीनों पर सरकार का नियंत्रण है। वहां के नागरिकों को टीवी देखना अनिवार्य है ताकि मौजूदा राजनीति और देश में हो रही घटनाओं के बारे में जान सके।
वहां ऐसे प्रॉडक्ट्स के इस्तेमाल पर रोक है जो स्टाइल या प्रॉडक्शन में पूंजीवादी लगे।
वहां के नागरिकों को भी देश में कहीं भी स्वतंत्र रूप से रहने और आने-जाने की अनुमति नहीं है। राजधानी में रहने के लिए सरकार को औपचारिक पत्र लिखकर अनुमति लेनी पड़ती है।
उत्तर कोरिया में वोट नहीं करना अवैध है। इसलिए हर व्यक्ति को वोट देना पड़ता है। हर 5 सालों में राष्ट्रपति का चुनाव होता है लेकिन कभी भी विपक्ष नहीं जीत सकता है।
Loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com