Sunday , December 5 2021

इस मंदिर की रखवाली करता है मगरमच्छ प्रसाद खाकर भरता है पेट

अपने शिकार को छोड़ना मगरमच्छ की फितरत में शामिल नहीं है लेकिन आज हम आपको एक ऐसे अनोखे मगरमच्छ के बारे में बताने जा रहे हैं जो सिर्फ मंदिर का प्रसाद खाकर ही अपना पेट भरता है। इस मंदिर की रखवाली करता है मगरमच्छ प्रसाद खाकर भरता है पेट

ये लाइन भले ही आपको थोड़ी अजीब जरुर लगे लेकिन ये कोई कहानी नहीं बल्कि केरल के अनंतपुर लेक टेम्पल में रहने वाले मगरमच्छ बबिया की असलियत है। 

वहां रह रहे लोगों का कहना है कि बबिया नाम का मगरमच्छ बीते कई सालों से लेक टेम्पल की रखवाली का करता है। वो स्वभाव से बेहद शांत है और खाने में पूरी तरह से शाकाहारी है। इस मंदिर की रखवाली करता है मगरमच्छ प्रसाद खाकर भरता है पेट

इस बारे में मंदिर प्रशासन का कहना है कि बीते 150 सालों से इस तालाब में मगरमच्छ दिख रहे हैं, मगर एक बार में सिर्फ एक मगरमच्छ ही दिखाई देता है। एक मगरमच्छ के मरने पर दूसरा अपने आप ही आ जाता है। 

मंदिर प्रशासन के मुताबिक बबिया के खाने का समय भी फिक्स है। दोपहर की पूजा के बाद बबिया चावल और गुड़ का बना प्रसाद ही खाता है।  

Loading...

Join us at Facebook