Friday , December 4 2020

करोड़पतियों और आपराधिक इमेज वालों को टिकट देने में BJP अव्वल, 79% कैंडिडेट करोड़पति

– अलीगढ़ के मेयर उम्मीदवारों के शपथपत्र का ब्यौरा उपलब्ध नहीं होने की वजह से उन्हें रिपोर्ट में शामिल नहीं किया जा सका। समाजवादी पार्टी और कांग्रेस के 13 फीसदी, बसपा के 21 और “आप” के 8 फीसदी प्रत्याशियों पर आपराधिक मामले दर्ज हैं। सबसे ज्यादा 29 फीसदी भाजपा के मेयर प्रत्याशियों पर आपराधिक मामले हैं।करोड़पतियों और आपराधिक इमेज वालों को टिकट देने में BJP अव्वल, 79% कैंडिडेट करोड़पति

-एडीआर यूपी के मुख्य समन्वयक संजय सिंह ने बताया- “करोड़पतियों को टिकट देने के मामले में भी भाजपा सबसे आगे है। उत्तर प्रदेश में मेयर का चुनाव लड़ रहे 38 फीसदी प्रत्याशी करोड़पति हैं। भाजपा और बसपा के 79 फीसदी प्रत्याशी करोड़पति हैं। जबकि सपा और कांग्रेस के 73 फीसदी मेयर पद के उम्मीदवार करोड़पति हैं।

आगरा के मेयर प्रत्याशी हैं सबसे अमीर

-आगरा से बीजेपी प्रत्याशी नवीन कुमार जैन 409 करोड़ की संपत्ति के साथ सबसे अमीर हैं। जबकि इसी पार्टी की इलाहाबाद से मेयर प्रत्याशी अभिलाषा 58 करोड़ रुपये के साथ दूसरे स्थान पर हैं।

– झांसी से बसपा के मेयर उम्मीदवार ब्रजेंद्र व्यास डमडम महाराज की कुल संपत्ति 37 करोड़ रुपये है। देनदारी के मामले में 17 करोड़ रुपये के साथ अभिलाषा पहले स्थान पर हैं तो 5 करोड़ की देनदारी के साथ डमडम महराज दूसरे स्थान पर हैं।

-आपराधिक मुकदमों के हिसाब से आगरा के निर्दलीय प्रत्याशी चौधरी बशीर 6 मामलों के साथ सबसे उपर हैं। इस बार मेयर पद के लिए मैदान में उतरे 46 फीसदी उम्मीदवारों की एजुकेशन क्वालिफिकेशन ग्रेजुएशन या उससे ज्यादा है।

213 में से 195 का एनालिसिस

-एडीआर स्टेट कोर्डिनेटर संजय सिंह ने कहा- “हमने सभी मेयर प्रत्याशियों के एफेडेविट के अनुसार सभी का विश्लेषण किया है। इनमें 16 नगर निगमों के कुल 213 उम्मीदवारों में से 195 उम्मीदवारों का हमने विश्लेषण किया है। बचे 18 प्रत्याशियों में से 15 प्रत्याशियों के अफेडेविट ऑन लाइन अपलोड नहीं किए गए हैं।”

-बाकी के लिए चुनाव आयोग से लिखित मांगा है, लेकिन रिपोर्ट बनाने तक नहीं दिया गया। जबकि प्रत्याशियों के अफेडेविट सही तरीके से नहीं अपलोड होने की वजह से उनका एनालिसिस नहीं किया जा सका है।

3 शहरों में सबसे ज्यादा गंभीर आपराधिक मामले दर्ज

-इनमें आपराधिक मुकदमे हत्या, बलात्कार व हत्या का प्रयास तक में मामले 3 शहर इलाहाबाद, बरेली, फैजाबाद के हैं।
-बरेली में कुल 18 प्रत्याशियों का विश्लेषण किया गया है, जिनमें से 4 गंभीर आपराधिक मामले वाले उम्मीदवार हैं। जिनमें सपा, इत्तिहाद-ए-मिल्लत काउंसिल, और पीस पार्टी के ये चारों कैंडिडेट हैं।
-इलाहाबाद में कुल 23 प्रत्याशियों का विश्लेषण किया गया है, जिनमें 4 पर गंभीर आपराधिक मामले पाए गए। इनमें 1 भाजपा, 2 निर्दलीय, 1 परिवर्तन समाज पार्टी के हैं।
-फैजाबाद में कुल 9 प्रत्याशियों में 3 पर गंभीर आपराधिक मामले पाए गए। इनमें 1 भाजपा, 1 बसपा, 1 ‘आप‘ के प्रत्याशी हैं।

सबसे ज्यादा अमीर कैंडिडेट भाजपा के

-195 में से 70 कैंडिडेट यानीं 36 प्रतिशत करोड़पति उम्मीदवार हैं। जिनमें से सपा के 15 में से 11 यानी 73 प्रतिशत, भाजपा के 14 में से 11 यानी 79 प्रतिशत कैंडिडेट करोड़पति हैं।
-कम सम्पत्ति में मेरठ, मुरादाबाद, मथुरा बरेली आगे, 195 में से 79 ने नहीं दिया पैन कार्ड।

-195 में से 70 कैंडिडेट की उम्र 25 साल से 40 साल के बीच की है। जबकि 101 कैंडिडेट की उम्र 41 से 60 साल की है।
-जबकि 24 उम्मीदवार की आयु 61 साल से 80 साल के बीच है। कुल 80 महिला उम्मीदवारों को इस बार टिकट मिला है।
-195 में से 10उम्मीदवारों ने अपने को सिर्फ 5वीं पास दिखाया है। 10 उम्मीदवारों ने सिर्फ लिटरेट बताया, वहीं 5 उम्मीदवार हाईक्वालिफाइड यानीं डाक्टरेट हैं।

-इनके अलावा बाकी बचे उम्मीदवारों में सभी ने अपने को ग्रेजुएट बताया है।

इलाहाबाद की अभिलाषा गुप्ता सबसे अमीर, फिर झांसी, बरेली, और लखनऊ

-इलाहाबाद से भाजपा की प्रत्याशि अभिलाषा गुप्ता के पास 58करोड़ 54लाख रू की सम्पत्ति दिखाई है।
-झांसी से बसपा प्रत्याशि बृजेंद्र कुमार व्यास ‘धमधम‘ महाराज के पास 37करोड़ 64लाख की सम्पत्ति है।

Loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com