Wednesday , December 2 2020

कर्नाटक में बहुमत साबित करेंगे – महासचिव मुरलीधर राव

भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव मुरलीधर राव ने कहा है कि वह विधानसभा में बहुमत साबित करेगी. साथ ही उन्होंने चुनाव बाद हुए कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन को ‘नापाक और नामंज़ूर’ करार बताया .भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव मुरलीधर राव ने कहा है कि वह विधानसभा में बहुमत साबित करेगी. साथ ही उन्होंने चुनाव बाद हुए कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन को ‘नापाक और नामंज़ूर’ करार बताया .  बता दें कि भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव मुरलीधर राव ने कहा कि कांग्रेस और जेडीएस के बीच सिर्फ भाजपा को सत्ता से दूर रखने' की सहमति बनी है.यह जनादेश और लोकतांत्रिक प्रक्रिया से पूरी तरह विपरीत है.खंडित जनादेश के बीच भाजपा सबसे बड़ी पार्टी बन कर उभरी है. राव ने कहा , कर्नाटक के लोग जानते हैं कि यह नापाक और अस्वीकार्य गठबंधन है.जबकि जद (एस) नेता एच डी कुमारस्वामी ने कल कहा था कि 12 साल पहले उन्होंने भाजपा के साथ गठबंधन कर भारी गलती की थी.तब लोग उनके पिता और पूर्व प्रधानमंत्री एच डी देवेगौड़ा की धर्मनिरपेक्ष साख पर सवाल खड़े करने लगे थे. लेकिन आज ईश्वर ने उस दाग को धोने का मौका दे दिया. कुमार स्वामी ने कांग्रेस के साथ बनानी चाही थी   उल्लेखनीय है कि राव ने कहा कि हम राज्यपाल के निर्देशानुसार सदन में अपना बहुमत साबित करेंगे.भाजपा ने हमेशा मूल लोकतांत्रिक सिद्धांतों का पालन किया है.बता दें कि येदियुरप्पा ने अकेले ही मुख्यमंत्री पद की शपथ ली है . सदन में बहुमत साबित हो जाने पर कैबिनेट में सदस्यों को शामिल किया जाएगा और इसका विस्तार किया जाएगा.

बता दें कि भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव मुरलीधर राव ने कहा कि कांग्रेस और जेडीएस के बीच सिर्फ भाजपा को सत्ता से दूर रखने’ की सहमति बनी है.यह जनादेश और लोकतांत्रिक प्रक्रिया से पूरी तरह विपरीत है.खंडित जनादेश के बीच भाजपा सबसे बड़ी पार्टी बन कर उभरी है. राव ने कहा , कर्नाटक के लोग जानते हैं कि यह नापाक और अस्वीकार्य गठबंधन है.जबकि जद (एस) नेता एच डी कुमारस्वामी ने कल कहा था कि 12 साल पहले उन्होंने भाजपा के साथ गठबंधन कर भारी गलती की थी.तब लोग उनके पिता और पूर्व प्रधानमंत्री एच डी देवेगौड़ा की धर्मनिरपेक्ष साख पर सवाल खड़े करने लगे थे. लेकिन आज ईश्वर ने उस दाग को धोने का मौका दे दिया. कुमार स्वामी ने कांग्रेस के साथ बनानी चाही थी 

उल्लेखनीय है कि राव ने कहा कि हम राज्यपाल के निर्देशानुसार सदन में अपना बहुमत साबित करेंगे.भाजपा ने हमेशा मूल लोकतांत्रिक सिद्धांतों का पालन किया है.बता दें कि येदियुरप्पा ने अकेले ही मुख्यमंत्री पद की शपथ ली है . सदन में बहुमत साबित हो जाने पर कैबिनेट में सदस्यों को शामिल किया जाएगा और इसका विस्तार किया जाएगा.

Loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com