Wednesday , December 2 2020

शराबी आदमी की वजह से 1280 मिनट लेट हुई जर्मन रेलवे की ट्रेनें

एक शराबी की वजह से जर्मन रेलवे की कई ट्रेनों को लेट होना पड़ा। कुछ ट्रेनों को कैंसल भी किया गया। यह सब इसलिए हुआ क्योंकि शराबी ने पुलिस को फोन पर बताया कि वह एक ट्रेन के डिब्बे में है और उसे नहीं पता कि वह वहां कब और कैसे पहुंचा।एक शराबी की वजह से जर्मन रेलवे की कई ट्रेनों को लेट होना पड़ा। कुछ ट्रेनों को कैंसल भी किया गया। यह सब इसलिए हुआ क्योंकि शराबी ने पुलिस को फोन पर बताया कि वह एक ट्रेन के डिब्बे में है और उसे नहीं पता कि वह वहां कब और कैसे पहुंचा।  व्यस्तता भरे म्यूनिख स्टेशन पर पुलिस ने तलाशी अभियान चलाया और हर ट्रेन को रोककर सभी डिब्बों में उसकी तलाश की गई। इसकी वजह से कई ट्रेनों अपने तय समय पर नहीं चल पाईं। कुछ ट्रेन तो इतनी लेट हो गईं कि उन्हें रद करना पड़ा।  म्यूनिख पुलिस ने कहा कि उन्हें 5.20 बजे आपातकालीन कॉल मिली। कॉल करने वाले ने बताया कि म्यूनिख के तीसरे सबसे बड़े पासिंग स्टेशन के पास एक ट्रेन के कंटेनर में है और उससे बाहर नहीं निकल पा रहा है।  ब्रेन डेड बच्चे के अंग दान करने के लिए मां ने किए साइन, फिर हुआ चमत्कार  पुलिस ने बताया कि वह 25 वर्षीय व्यक्ति इतना नशे में था कि जब वह कंटेनर में घुसा, तो उसे पता नहीं था कि वह कहां है और कैसे उसमें चला गया था। इसके बाद पुलिस ने सभी ट्रेनों का संचालन बंद कर दिया और हर ट्रेन की तलाश करना शुरू कर दिया।  आखिरकार उसे 6.20 बजे ढूंढ लिया गया। मगर, इसकी वजह से 36 ट्रेनें प्रभावित हुईं और रेलों के चलने के समय में कुल 1,280 मिनट देरी हुई। इसके साथ ही 37 ट्रेनों को रद किया गया और 21 ट्रेनों का आंशिक रूप से रद किया गया। माना जा रहा है कि उस व्यक्ति के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

व्यस्तता भरे म्यूनिख स्टेशन पर पुलिस ने तलाशी अभियान चलाया और हर ट्रेन को रोककर सभी डिब्बों में उसकी तलाश की गई। इसकी वजह से कई ट्रेनों अपने तय समय पर नहीं चल पाईं। कुछ ट्रेन तो इतनी लेट हो गईं कि उन्हें रद करना पड़ा।

म्यूनिख पुलिस ने कहा कि उन्हें 5.20 बजे आपातकालीन कॉल मिली। कॉल करने वाले ने बताया कि म्यूनिख के तीसरे सबसे बड़े पासिंग स्टेशन के पास एक ट्रेन के कंटेनर में है और उससे बाहर नहीं निकल पा रहा है।

पुलिस ने बताया कि वह 25 वर्षीय व्यक्ति इतना नशे में था कि जब वह कंटेनर में घुसा, तो उसे पता नहीं था कि वह कहां है और कैसे उसमें चला गया था। इसके बाद पुलिस ने सभी ट्रेनों का संचालन बंद कर दिया और हर ट्रेन की तलाश करना शुरू कर दिया।

आखिरकार उसे 6.20 बजे ढूंढ लिया गया। मगर, इसकी वजह से 36 ट्रेनें प्रभावित हुईं और रेलों के चलने के समय में कुल 1,280 मिनट देरी हुई। इसके साथ ही 37 ट्रेनों को रद किया गया और 21 ट्रेनों का आंशिक रूप से रद किया गया। माना जा रहा है कि उस व्यक्ति के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

Loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com