Wednesday , January 20 2021

चेन्नई में मुसलाधार बारिश ने ढाया अपना कहर, हुई लोगों की मौत

तमिलनाडु में चेन्नई और आस-पास के तटीय जिलों में भारी बारिश का कहर जारी है. इस वजह से जनजीवन पूरी तरह अस्त-व्यस्त हो गया है और अब तक 8 लोगों की जान जा चुकी है. चेन्नई में गुरुवार रातभर हुई भारी बारिश के बाद शुक्रवार दिन में कुछ राहत मिली थी, लेकिन शाम होते-होते फिर से भारी बारिश शुरू हो गई. तेज बारिश ने चेन्नई के मयलापुर, फोरशोर एस्टेट और तांब्रम, क्रोमपेट और पल्लवरम के दक्षिणी उपनगरों को बुरी तरह प्रभावित कर दिया है.

चेन्नई में मुसलाधार बारिश ने ढाया अपना कहर, हुई लोगों की मौत

तमि‍लनाडु के चेन्नई में भारी बारिश लोगों के लिए मुसीबत बन रही है. कई इलाकें जलमग्न हैं. फेमस मरीना बीच में भी सर्विस लेन तक पानी भर चुका है.  मरीना बीच इलाके में सबसे ज्यादा 30 सेंटीमीटर बारिश दर्ज की गई. वहीं एक और जहां पावर कट की वजह से कई हिस्सों में अंधेरा छाया रहा. वहीं वॉटर लॉगिंग की वजह से थिरुवरुर इलाके के पास मनल अगाराम में एक किसान बिजली के तारों के चपेट में आ गया और उसकी मौत हो गई. इस तरह 27 अक्टूबर के बाद नॉर्थ ईस्ट मॉनसून बारिश की वजह से मरने वालों की संख्या 8 हो चुकी है.

चेन्नई, थिरुवलुर और कांचीपुरम जिले में 31 अक्टूबर से ही स्कूल और कॉलेज बंद हैं. वहीं सरकार ने प्राइवेट कंपनियों से अपने कर्मचारियों को घर से काम करने का ऑप्शन देने को कहा है.

ट्रेनों की दिक्कत

वॉटर लॉगिंग की वजह से सेंट थॉमस माउंट और कोडमबक्कम इलाकों में ट्रैफिक और ट्रेन सर्विस बुरी तरह प्रभावित हुई है. हालांकि शुक्रवार शाम तक ट्रेन सर्विस को सामान्य कर लिया गया था. मौसम विभाग ने बताया कि कल रात हुई भारी बारिश से पश्चिमी मांबलम और गुइंडी इंडस्टि्रयल एस्टेट में जलभराव हो गया. इसके कारण बस, टैक्सी, ऑटो और उपनगरीय ट्रेन सेवाएं बाधित हो गईं.  रेलवे अधिकारियों ने बताया कि पानी भर जाने से सेंट थॉमस माउंट और कोडम्बक्कम उपनगर सेक्टर के बीच रात साढ़े नौ बजे से ट्रेन सेवाएं बाधित रहीं. हवाईअड्डा अधिकारियों ने बताया कि शहर के हवाईअड्डों पर विमानों की आवाजाही सामान्य है.

आपको बता दें कि 2015 में भारी बारिश की वजह से चेन्नई में काफी दिक्कत हुई थी. इसी वजह से इस बार  AIADMK ने लोगों से अफवाह नहीं फैलाने की अपील की है. सरकार के अनुसार 105 रिलीफ कैंप लोगों की मदद के लिए बनाए गए हैं.

फसलें प्रभावित

तटीय इलाके नागापट्टिनम भारी बारिश से काफी नुकसान पहुंचा है. लगातार हो रही बारिश से कई घरों में पानी घुस गया है और कई हेक्टेयर में फैली फसलों को भी नुकसान पहुंचा है. लोगों की परेशानियों को देखते हुए मुख्यमंत्री ई पलानीसामी और उप मुख्यमंत्री ओ पनीरसेल्वम के कैबिनेट सदस्यों के साथ चेन्नई के कई इलाकों का दौरा किया. पलनीस्वामी ने कहा है कि चेन्नई कॉरपोरेशन और कांचीपुरम जिले में वॉटर लॉगिंग की दिक्कतों से जूझ रहे निचले इलाकों की पहचान हो चुकी है. राहत का काम युद्धस्तर पर जारी है. उन्होंने बाढ़ राहत शिविरों में मौजूद व्यक्तियों को खाने के पैकेट, धोती और साड़ी, चटाई और चादर बांटे.

2015 की तरह डेंगू के खतरे के फिर से पनपने के मद्देनजर अन्नाद्रमुक सरकार ने ऐसे खतरों के निराकरण के लिए तैयार रहने को कहा है. नगर निगम के अधिकारियों का कहना है कि जलभराव की स्थिति से निपटने के प्रयास जारी हैं. मौसम विभाग ने अगले 24 घंटों में तमिलनाडु के उत्तर तटीय क्षेत्रों में भारी से अत्यंत भारी बारिश होने और चेन्नई और उसके उपनगरों में आंधी आने का पूर्वानुमान व्यक्त किया है.

परीक्षाएं रद्द

अन्ना यूनिवर्सिटी और यूनिवर्सिटी ऑफ मद्रास ने अपनी सेमेस्टर परीक्षाओं को रद्द करने की घोषणा की. मौसम विभाग के अनुसार, शुक्रवार सुबह साढ़े आठ बजे तक चेन्नई और नुंगमबक्कम में 18 सेंटीमीटर बारिश दर्ज की गई और दक्षिणी उपनगर में मीनम्बक्कम में 14 सेंटीमीटर तक बारिश दर्ज की गई. उत्तर चेन्नई में व्यासरपदी और ओरी, मध्य चेन्नई में पश्चिम अन्ना नगर और दक्षिण चेन्नई में मदिपक्कम में बहुत ज्यादा पानी भर गया है. 10 हजार एकड़ जमीन के पानी में डूब जाने की वजह से वेदारण्यम इलाके में नमक का उत्पादन रुक गया है.

 
Loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com