Thursday , December 9 2021

जानिए इंडिया में अलग अलग भाषाओ में कैसे करते हैं प्यार का इज़हार

किभी भी रिलेशनशिप का सबसे खूबसूरत पल वो होता है जब प्यार का इज़हार किया जाता है। हर एक इंसान जो प्यार करता है वो इस पल के लिए ढ़ेरों सपने सजोता है। ये जितना खुशनुमा होता है उतना ही मुश्किल भी क्योंकि अपने जीवन के सबसे खूबसूरत एहसास को शब्दों में बयां करना इतना आसान नही होता । लोग इसके लिए कई सारे तरकीबें ढ़ूढ़ते हैं और लम्बी प्लानिंग भी करते हैं। अगर आप भी कुछ ऐसी ही प्लानिंग कर रहे हैं तो हमारे पास एक नायाब तरीका है आपके लिए। जी हैं अगर आप को भी अपने प्यार के इज़हार के लिए शब्द नही मिल रहे हैं तो हम आपको बता रहें हैं कि कैसे आप एक दो नही बल्कि पूरे 20 भाषाओं में दिल की बात अपने प्रियतम के सामने रख सकते हैं।

जानिए इंडिया में अलग अलग भाषाओ में कैसे करते हैं प्यार का इज़हार

वैसे तो प्यार भाषा, जाति,धर्म की सीमाओं से परे है और इसे किसी भाषा विशेष की जरूरत भी नही होती है ..लेकिन अगर आप अपने प्यार का इज़हार अपनी मनपसंद भाषा में करना चाहते हैं तो इसके लिए जानें भारत की 20 भाषाओं में कैसे बयां किया जाते है इंगलिश के तीन मेजिकल शब्द  love you.. को।

सबसे पहले शुरूआत करते हैं हिन्दी से .. दोस्तो ये तो सबसे आसान है इसमें हम सामने वाले को सीधे तौर पर कह सकते हैं कि …मुझे तुमसे प्यार है।

1 हिंदी के बाद बात करते हैं उर्दु के ज़बान की,  तो इसमें भी ज़नाब आपको कुछ खास मशक्त नही करनी है.. आपको अपने महबूब से सिर्फ इतना अर्ज करना है … मैं आप से प्यार करता हूं ।

2 वही अगर पंजाबी मे करना चाहते है प्रपोज तो बोलें .. मैं तैनू प्यार करदा।

3 गुजराती में भी आसान ही है जैसे कि.. हो तने प्रेम करूं छूं।

4 बंगाली मे कह सकते हैं आप .. आमी तुमाके भालो बाशी ।

5 मराठी की मीठी भाषा में कहें .. मी तुला प्रेम करतो ।

6 राजस्थानी में कहिए.. मैं तने प्यार करू ।

7  तेलुगू में कहें.. नेनू निन्नू प्रेमीसतुन्नानु ।

8 मल्यालम में बोलें.. नजन निन्नेप्रेमीकुन्नू ।

9 तमिल में कह सकते हैं.. नान उन्नई प्रेमीसतुन्नानु।

10 कन्नड में बोलते हैं.. नानू नीन्ना प्रीतिसुतैन ।

11 ओरिया में कहें.. मू तुमाकू भल पाए ।

12 मनीपूरीं में बोल सकते हैं.. इना नंनगूबू नुनगसी ।

13 सिंधी में कहिए.. मा तोखे प्यार केदों अहयन ।

14 कोनकनी में कहते हैं.. तु मागेल मोगा छो ।

15  कश्मीरी में बोलते हैं.. मइ छा चैन माई ।

16 असामी में कहते हैं.. मोई तोमक भाल पाओ ।

17 संस्कृत में कहते हैं.. त्वाही शिनहयामी ।

18 मैथली में कहिए.. होम आहा से प्यार करी छह ।

19 भोजपूरी में कहते हैं.. हम तोहरा से प्यार करीला ।

20 फारसी में कहते हैं.. दोसेत दरम।

Loading...

Join us at Facebook