Sunday , November 28 2021

भारत और अमेरिका की सेना को सशक्त बनाने का संकल्प

यह देश के लिए गौरव के क्षण हैं कि विश्व की दो महा शक्तियों अमेरिका और भारत ने अपनी सेनाओं को विश्व की दो सबसे सशक्त सेनाएं बनाने का संकल्प लिया है. यह संकल्प प्रधानमंत्री और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने फिलीपींस के मनीला में आसियान बैठक से पृथक हुई मुलाकात में लिया.इसके साथ ही दोनों बड़े नेताओं ने बड़े रक्षा साझीदार के तौर पर आपसी सहयोग बढ़ाने की प्रतिबद्धता भी दोहराई.भारत और अमेरिका की सेना को सशक्त बनाने का संकल्प

उल्लेखनीय है कि ट्रम्प और मोदी ने संकल्प लिया कि विश्व के दो महान लोकतांत्रिक देशों के पास दो महान सेनाएं भी होनी चाहिए. सम्मेलन से अलग हुई इस बैठक में पीएम मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने रक्षा और सुरक्षा सहित कई द्विपक्षीय मुद्दों पर बातचीत की. दोनों नेताओं अमेरिका और भारत के बीच के रिश्ते को पारस्परिक हितों से परे बताते हुए कहा कि उसे द्विपक्षीय संबंधों से कहीं आगे ले जाया जा सकता है. इस मौके पर राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अमेरिका से भारत द्वारा खरीदे जाने वाले तेल के हाल के महीनों में 10 मिलियन बैरल के स्तर को पार कर जाने की भी प्रशंसा की.

बता दें कि पीएम मोदी ने ट्रंप को आश्वस्त किया कि भारत इस बात के प्रयत्न करेगा कि वह अमेरिका और विश्व की उम्मीदों पर खरा उतर सके.पीएम मोदी ने कहा कि भारत और अमेरिका न सिर्फ हितों के लिए, बल्कि एशिया के भविष्य और पूरी दुनिया में मानवता के लिए काम कर रहे हैं. अमेरिकी राष्ट्रपति ने पीएम मोदी को न सिर्फ एक सच्चा दोस्त, बल्कि एक महान जेंटलमैन भी बताया.

Loading...

Join us at Facebook