Wednesday , January 20 2021

अभी अभी : मेघालय में राज्यपाल से मिली कांग्रेस, सरकार बनाने का किया दावा

नॉर्थ ईस्ट के तीन राज्यों त्रिपुरा, नगालैंड व मेघालय में हुए चुनावों में त्रिपुरा व नगालैंड में बीेजेपी सरकार बना रही है. मेघालय में 21 सीटें जीतकर कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी है. लेकिन इसके बावजूद कांग्रेस को मेघालय में सरकार बनाने के लिए 9 सीटों की ज़रूरत है. नतीजे आते ही कांग्रेस के दो बड़े नेता अहमद पटेल और कमलनाथ मेघालय रवाना हो गए ताकि मणिपुर और गोवा में हुई गलती दोहराई न जाए जहां कांग्रेस के सबसे बड़ी पार्टी होने के बावजूद बीजेपी सरकार बनाने में कामयाब हो गई थी. अहमद पटेल ने कहा कि इस बार कोई गलती दोहराई नहीं जाएगी.

इसके लिए कांग्रेस सरकार बनाने कि लिए राज्यपाल गंगा प्रसाद से मिली. बता दें कि बीजेपी व कांग्रेस दोनों लगातार सरकार बनाने के लिए जोड़-तोड़ की राजनीति में लगे हुए हैं.

कांग्रेस की ओर से इसके लिए कमलनाथ व अहमद पटेल को नियुक्त किया गया. वो क्षेत्रीय पार्टियों व निर्दलीय उम्मीदवारों से बात कर रहे हैं. जबकि बीजेपी ने असम के मंत्री व नॉर्थ ईस्ट के बीजेपी के रणनीतिकार हिमंत बिस्व सरमा को नियुक्त किया है.

यहां बीजेपी को 19 सीटे जीतने वाली नेशनल पीपल्स पार्टी का सहयोग मिल सकता है क्योंकि नेशनल पीपल्स पार्टी का केन्द्र और मणिपुर में बीजेपी के साथ गठबंधन है. एनपीपी से सहयोग मिलने के बाद बीजेपी के पास भी जादुई आंकड़े से 9 सीटे कम रह जायेंगी. ऐसे में सबकी नज़रे छोटी और निर्दलीय पार्टियों पर है जो कि राज्य में सरकार बनाने में एक बहुत बड़ी भूमिका निभा सकती है.

राज्य में कुछ इस तरह से बन सकती है सरकार

एंटी कांग्रेस गठबंधन
यूनाइटेड डेमोक्रेटिक पार्टी (UDF), हिल्स स्टेट पीपल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (HSPDP), गारो नेशनल कांउसिल (GNC) जिसने राज्य में आठ सीटें जीती हैं, इसके अलावा पीपल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (PDF) जिसने चार सीटे जीती हैं. इस तरह से इन तमाम पर्टियों ने एंटी कांग्रेस एजेंडे पर ही चुनाव लड़ा है और इन सबका मकसद मुकुल संगमा सरकार को राज्य की गद्दी से उतारना रहा है. ऐसे में इन पार्टियों का समर्थन बीजेपी और एनपीपी को जा सकता है.

कांग्रेस+रीजनल पार्टी+इंटीपेंडेंट
कांग्रेस इस बार राज्य में सरकार बनाने का कोई मौका नहीं छोड़ना चाहती. सीनियर लीडर कमलनाथ का कहना है कि केवल 2 सीटें जीतकर भी बीजेपी गलत तरीकों से सरकार बनाने की कोशिश में लगी हुई है. कमलनाथ कुछ भी कहें लेकिन सच्चाई तो यही है कि सभी रीजनल पार्टियों ने एंटी कांग्रेस मुद्दे पर ही चुनाव लड़ा है तो ऐसे में कांग्रेस के साथ ये गठबंधन थोड़ा मुश्किल नज़र आ रहा है लेकिन पार्टी नेता जोड़- तोड़ की सरकार के लिए उम्मीद लगाए हुए हैं.

कांग्रेस+एनपीपी
मेघालय में सबसे बड़ी पार्टी कांग्रेस और दूसरी बड़ी पार्टी एमपीपी भी साथ आकर राज्य में सरकार बना सकती है.

Loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com