Friday , January 15 2021

शाबाश विराट! भारत ने लगातार 9 वनडे सीरीज जीतकर ऑस्ट्रेलिया का रिकॉर्ड तोड़ा

विराट ब्रिगेड ने साउथ अफ्रीका से पांचवां वनडे जीतकर मौजूदा सीरीज में 4-1 की अजेय बढ़त ले ली है. इसके साथ ही टीम इंडिया ने 26 साल में पहली बार साउथ अफ्रीकी धरती पर वनडे सीरीज जीतकर न सिर्फ इतिहास रचा, बल्कि लगातार 9वां बाइलैटरल (द्विपक्षीय) वनडे सीरीज जीतकर ऑस्ट्रेलिया को पीछे छोड़ दिया है.

लगातार सबसे अधिक द्विपक्षीय वनडे सीरीज जीतने की बात करें, तो यह वर्ल्ड रिकॉर्ड वेस्टइंडीज के नाम है. जिसने मई 1980 से मार्च 1988 के दौरान लगातार 15 सीरीज पर कब्जा किया. अब टीम इंडिया लगातार 9 सीरीज जीतकर दूसरे स्थान पर आ गई है, जबकि ऑस्ट्रेलिया (8) तीसरे स्थान पर है.

 

लगातार बाइलैटरल सीरीज जीतने का रिकॉर्ड

15 – वेस्टइंडीज (1980-1988)

( इसमें एक वनडे मैच की सीरीज भी शामिल है. भारत के खिलाफ जनवरी 1988 में )

9 – भारत (2016 से लेकर अब तक जारी)

8 – ऑस्ट्रेलिया (2009-10)

7 – पाकिस्तान (2011-2012)

जिंबाब्वे से शुरू हुआ था जीत का सिलसिला

 टीम इंडिया की लगातार 9 बाइलैटरल वनडे सीरीज जीत का सिलसिला 2016 में जिंबाब्वे जीत से शुरू हुआ था. उसके बाद से भारतीय टीम ने न्यूजीलैंड (2016), इंग्लैंड, वेस्टइंडीज, श्रीलंका, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, श्रीलंका (2017) के बाद साउथ अफ्रीका को पीटकर यह खास उपलब्धि हासिल की.

बाइलैटरल वनडे सीरीज में टीम इंडिया का विजय रथ

1. भारत का जिंबाब्वे दौरा – 3 मैचों की वनडे सीरीज 2016 – भारत 3-0 से विजयी

2. न्यूजीलैंड का भारत दौरा – 5 मैचों की टेस्ट सीरीज 2016 – भारत3-2 से विजयी

3. इंग्लैंड का भारत दौरा – 3 मैचों की वनडे सीरीज 2017 – भारत 2-1 से विजयी

4. भारत का वेस्टइंडीज दौरा – 5 मैचों की वनडे सीरीज 2017 – भारत 3-1से विजयी

5. भारत का श्रीलंका दौरा – 5 मैचों की वनडे सीरीज 2017 – भारत 5-0 से विजयी

6. ऑस्ट्रेलिया का भारत दौरा – 5 मैचों की वनडे सीरीज 2017 – भारत 4-1से विजयी

7. न्यूजीलैंड का भारत दौरा – 3 मैचों की वनडे सीरीज 2017 – भारत 2-1से विजयी

8. श्रीलंका का भारत दौरा – 3 मैचों की वनडे सीरीज 2017 – भारत 2-1से विजयी

9. भारत का साउथ अफ्रीका दौरा – 6 मैचों की वनडे सीरीज 2018 – भारत 4-1 से आगे

Loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com