जीत के लिए हरसंभव करेंगे प्रयास

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष त्रिपुरा में अपने अभियानों के जरिए एक तरफ राज्य की जनता को भाजपा के पक्ष में करना चाहते हैं. साथ ही पार्टी के कार्यकर्ताओं के बीच यह संदेश भी देना चाहते हैं कि भाजपा अन्य राज्यों की तरह ही यहां भी पूरी शिद्दत के साथ चुनाव लड़ने उतरी है. यही वजह है कि अमित शाह आज के रोड शो के बाद तीन रैलियां भी करेंगे. इसके अगले दिन भी अमित शाह की तीन रैलियां प्रस्तावित हैं.

सत्तारूढ़ पार्टी के खिलाफ अभियान

त्रिपुरा विधानसभा का चुनाव आगामी 18 फरवरी को होना है. इसके लिए बहुत पहले से ही भाजपा ने कमर कस रखी है. बीती 9 फरवरी को पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव राम माधव अगरतला में थे. राज्य में सत्तारूढ़ माकपा सरकार के खिलाफ बयान देते हुए उस समय उन्होंने कहा था कि उनकी पार्टी राज्य को माकपा के ‘कुशासन’ से मुक्ति दिलाना चाहती है. उन्होंने राज्य के मतदाताओं से बिना किसी डर के अपने मत का प्रयोग करने की अपील करते हुए विश्वास जताया कि भाजपा-आईपीएफटी गठबंधन को चुनाव में जीत हासिल होगी. सत्तारूढ़ वाम मोर्चा पिछले 25 साल से त्रिपुरा में सत्ता में है. माधव ने ‘चार्जशीट’ नाम का चुनाव प्रचार बुकलेट जारी करते हुए आरोप लगाया कि त्रिपुरा में अपराध दर देश भर में ‘ज्यादा’ है और यहां कानून-व्यवस्था का नियंत्रण माकपा के कार्यकर्ता करते हैं.