बड़ीखबर : विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने केपी ओली से की मुलाकात, इन मुद्दों पर होगी चर्चा

काठमांडू। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने गुरुवार रात कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ नेपाल (यूनीफाइड माक्र्सिस्ट -लेनिनिस्ट ) के अध्यक्ष केपी शर्मा ओली से मुलाकात कर भारत और नेपाल के बीच ‘विशेष’संबंधों को अगले स्तर तक ले जाने पर चर्चा की। स्वराज की ओली से यह मुलाकात नेपाल में हाल ही में हुए चुनाव में जीत हासिल करने वाले वामपंथी गठबंधन के किसी नेता से पहली मुलाकात है।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी। स्वराज ने चुनाव में ओली की पार्टी की जीत के लिए उन्हें बधाई दी। स्वराज यहां हवाई अड्डे से सीधे सोल्टी क्राउन प्लाकाा होटल गई, जहां ओली ने उनके सम्मान में एक रात्रिभोज का आयोजन किया।

राजनयिक सूत्रों के मुताबिक विदेश मंत्री नेपाल में हाल ही में हुए चुनाव में बहुमत प्राप्त करने वामपंथी गठबंध के नेताओं के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का‘विशेष राजनीतिक संदेश’लेकर यहां आई हैं। स्वराज के साथ इस दौरान विदेश सचिव विजय केशव गोखले के अलावा अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद रहे।

गत माह मोदी और ओली के बीच फोन पर बातचीत हुई थी जिसमें दोनों नेताओं ने एक दूसरे को यात्रा के लिए आमंत्रित किया था। स्वराज नेपाल में स्थानीय निकायों, प्रांतीय असेंबली और संघीय संसद के लिए हुए चुनावों के बाद नेपाल की यात्रा करने वाली पहली वरिष्ठ भारतीय मंत्री हैं।

इससे पहले विदेश मंत्रालय ने एक आधिकारिक प्रेस विज्ञप्ति में बताया कि स्वराज की यात्रा भारत और नेपाल के बीच उच्च स्तरीय राजनीतिक आदान-प्रदान की परंपरा के अनुसार होगी। इससे भारत और नेपाल के बीच बढ़ती द्विपक्षीय साझीदारी और विभिन्न क्षेत्रों को मजबूत बनाने के लिए इस साझीदारी को दोनों देशों द्वारा दिया जा रहा महत्व प्रतिभबबित होता है।

मई 2014 में पद भार संभालने के बाद विदेश मंत्री की नेपाल की यह सातवीं यात्रा है। इससे साफ है कि भारत सरकार नेपाल की आगामी वाम गठबंधन सरकार के साथ बेहतर संबंध बनाने तथा 2015 में सीमा पर आर्थिक नाकेबंदी के बाद से उत्पन्न तनाव को खत्म करने की इच्छुक है। 

 
Loading...